India world cup squad : यह तीन खिलाड़ी नहीं थे चयन के हक़दार

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

India world cup squad : यह तीन खिलाड़ी नहीं थे चयन के हक़दार, लेकिन चयन में व्याप्त राजनीति की वजह से मिली जगह 

India world cup squad : यह तीन खिलाड़ी नहीं थे चयन के हक़दार, लेकिन चयन में व्याप्त राजनीति की वजह से मिली जगह

आज 15 अप्रैल को विश्व कप 2019 के लिए भारतीय टीम का चयन हो गया है. टीम के चयन में 12 खिलाड़ियों का चयन तो सही लग रहा है, लेकिन तीन खिलाड़ी ऐसे है. जिनका चयन समझ से परे हैं. आज हम आपकों अपने इस ख़ास लेख में उन तीन खिलाड़ियों का ही नाम बताएंगे, जिनके विश्व कप टीम में चयन को सही नहीं ठहराया जा सकता है.

विजय शंकर 

India world cup squad : यह तीन खिलाड़ी नहीं थे चयन के हक़दार, लेकिन चयन में व्याप्त राजनीति की वजह से मिली जगह 1

India world cup squad : यह तीन खिलाड़ी नहीं थे चयन के हक़दार, लेकिन चयन में व्याप्त राजनीति की वजह से मिली जगह 1

India world cup squad : यह तीन खिलाड़ी नहीं थे चयन के हक़दार, लेकिन चयन में व्याप्त राजनीति की वजह से मिली जगह 1

विजय शंकर को भारत की विश्व कप टीम में जगह मिली है, जबकि वह भारत के लिए अबतक 9 वनडे मैच ही खेल पाए है. अपने खेले 9 वनडे मैचों में वह भारत के लिए एक भी अर्धशतक नहीं लगा पाये हैं. वहीं गेंदबाजी में भी उन्हें सिर्फ 2 विकेट ही हासिल हुए है.

विजय शंकर की वजह से ही अम्बाती रायडू जैसे 47 की वनडे औसत रखने वाले खिलाड़ी को मौका नहीं दिया गया. उनका आईपीएल में हलियाँ फॉर्म भी अच्छा नहीं है, इसलिए कहीं ना कहीं विजय शंकर टीम में जगह के हकदार नहीं थे.

दिनेश कार्तिक 

India world cup squad : यह तीन खिलाड़ी नहीं थे चयन के हक़दार, लेकिन चयन में व्याप्त राजनीति की वजह से मिली जगह 4

दिनेश कार्तिक अपने 15 साल के करियर में भारत के लिए 91 मैच खेले हुए है, लेकिन इस दौरान वह एक भी शतक भारत के लिए नहीं बना पाए है.

इस आईपीएल में उनकी हलियाँ फॉर्म भी बहुत खराब रही है. उन्होंने 8 मैचों में मात्र 112 रन ही बनाये हैं. अपनी हलियाँ फॉर्म को देखते हुए भी वह भारत की टीम में जगह डिजर्व नहीं करते थे, लेकिन आईपीएल में उनके खराब प्रदर्शन के बावजूद चयनकर्ताओं ने उन्हें विश्व कप टीम में जगह दे दी है.

रविन्द्र जडेजा 

India world cup squad : यह तीन खिलाड़ी नहीं थे चयन के हक़दार, लेकिन चयन में व्याप्त राजनीति की वजह से मिली जगह 5

रविन्द्र जडेजा का चयन भी समझ से परे हैं. वह रन रोकने में तो कामयाब रहते हैं, लेकिन विकेट निकलने के मामले में वह फिसड्डी साबित हो जाते हैं.

चहल और कुलदीप के होने के बावजूद रविन्द्र जडेजा को टीम में मौका दिया गया है. इंग्लैंड की पिचों पर तीन स्पिनर की जगह अगर चार तेज गेंदबाज होते, तो ज्यादा अच्छा होता.

लेकिन चयनकर्ताओं ने जडेजा को टीम में मौका दिया और चौथे तेज गेंदबाज के रूप में किसी भी खिलाड़ी का चयन नहीं किया गया है. सिर्फ बुमराह, भुवनेश्वर और शमी के कंधो पर ही तेज गेंदबाजी की जिम्म्मेदारी है.

 

 

अगर आपकों हमारा आर्टिकल पसंद आया, तो प्लीज इसे लाइक करें. अपने दोस्तों तक ये खबर सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें. साथ ही अगर आप कोई सुझाव देना चाहते हैं, तो प्लीज कमेंट करें. अगर आपने अब तक हमारा पेज लाइक नहीं किया हैं, तो कृपया अभी लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट हम आपकों जल्दी पहुंचा सकें.

 

Related posts