सेमीफाइनल से पहले भारतीय टीम में दिख रही हैं ये तीन कमजोरियां

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

सेमीफाइनल से पहले भारतीय टीम में दिख रही हैं ये तीन कमजोरियां 

सेमीफाइनल से पहले भारतीय टीम में दिख रही हैं ये तीन कमजोरियां

भारतीय टीम विश्व कप 2019 में शानदार प्रदर्शन कर रही है और अपने अच्छे प्रदर्शन के दम पर भारतीय टीम ने सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है. भारत 9 जुलाई को अपना सेमीफाइनल मुकाबला न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलेगा, लेकिन इस मुकाबले से पहले भारतीय टीम में तीन कमजोरियां नजर आ रही है और उन्ही कमजोरियों के बारे में आज हम बात करने वाले हैं.

सेमीफाइनल से पहले भारतीय टीम में दिख रही हैं ये तीन कमजोरियां 1

केएल राहुल को सेट होने में लग रहा अधिक समय

केएल राहुल

केएल राहुल इस विश्व कप में भारतीय टीम के लिए 51.52 की शानदार औसत से 360 रन बना चुके हैं, लेकिन खराब बात यह है, कि इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 78.43 का ही रहा है. वह शुरूआत में सेट होने के लिए काफी डॉट बॉल खेल रहे हैं.

सभी भारतीय खिलाड़ियों में अबतक सबसे ज्यादा डॉट बॉल खेलने का प्रतिशत केएल राहुल का ही है, इसलिए सेमीफाइनल मुकाबले में केएल राहुल को अपनी इस समस्या को दूर करना होगा और ज्यादा डॉट बॉल नहीं खेलनी होगी.

टॉप-3 को छोड़ अन्य बल्लेबाज हो रहे फ्लॉप

सेमीफाइनल से पहले भारतीय टीम में दिख रही हैं ये तीन कमजोरियां 2

भारतीय टीम को इस विश्व कप में टॉप-3 बल्लेबाजों ने अच्छा प्लेटफार्म दिया है. रोहित शर्मा, विराट कोहली और केएल राहुल तीनों ही इस विश्व कप में 300 से ज्यादा रन भारतीय टीम के लिए बना चुके हैं.

लेकिन मध्यक्रम के बल्लेबाज इस अच्छी शुरूआत को भुना नहीं पा रहे हैं. अंतिम ओवरों में जिस रन-रेट के साथ बल्लेबाजी होने की जरुरत थी. उस रन-रेट के साथ भारतीय टीम बल्लेबाजी नहीं कर पाई है. एमएस धोनी, केदार जाधव, दिनेश कार्तिक सभी बल्लेबाज भारतीय टीम को अच्छा फिनिश देने में नाकामयाब साबित हो रहे हैं.

बुमराह को छोड़ डेथ ओवर में महंगे साबित हो रहे गेंदबाज

रोहित

जसप्रीत बुमराह जब से भारतीय टीम में आये हैं, तो उन्होंने काफी हद तक भारतीय टीम के डेथ गेंदबाजी की समस्या खत्म कर दी है. हालांकि, एक तरफ से वह भारतीय टीम के लिए शानदार डेथ गेंदबाजी करते हैं, लेकिन दूसरी तरफ से देखा जा रहा है, कि अन्य गेंदबाज डेथ ओवर्स में महंगे साबित हो रहे हैं.

मोहम्मद शमी और हार्दिक पांड्या को डेथ ओवर्स में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. वहीं भुवनेश्वर कुमार भी बहुत ज्यादा अच्छी डेथ बोलिंग नहीं कर पा रहे हैं.

Related posts