INDvsSL- भारत के पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने भारतीय टीम को किया आगाह, श्रीलंका इस कारण दे सकती है चुनौती 1

श्रीलंकाई टीम इन दिनों भारत के दौरे पर है। जहां भारत से हुई 3 मैचों की टी20 सीरीज के दौरान उन्हें करारी मात का सामना करना पड़ा। श्रीलंका की टीम भारत के सामने इस दौरे पर पूरी तरह से बैकफुट पर दिख रही है। टी20 सीरीज में हार के बाद अब श्रीलंका भारत के 2 मैचों की टेस्ट सीरीज खेल रही है।

संजय बांगड़ ने माना श्रीलंका भारत को दे सकती है चुनौती

भारत और श्रीलंका के बीच मोहाली के आईएस बिन्द्रा क्रिकेट स्टेडियम में पहला टेस्ट मैच शुरू हो गया है। शुक्रवार से शुरू हुए इस टेस्ट सीरीज में भी भारतीय टीम का पलड़ा भारी ही माना जा रहा है।

INDvsSL- भारत के पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने भारतीय टीम को किया आगाह, श्रीलंका इस कारण दे सकती है चुनौती 2

श्रीलंका को अब तक भारत में टेस्ट क्रिकेट इतिहास में एक भी जीत नहीं मिल सकी है। लेकिन नहीं इसी बीच भारत के एक पूर्व कोच ने बड़ा बयान देते हुए माना है कि श्रीलंका की टीम टेस्ट सीरीज में भारत को चुनौती दे सकती है।

श्रीलंका की टीम दिख रही है शानदार

ये बात और किसी ने नहीं बल्कि भारत के पूर्व बल्लेबाजी कोच रहे संजय बांगड़ ने कही है। संजय बांगड़ ने स्टार स्पोर्ट्स के साथ खास बातचीत की। जिसमें उन्होंने श्रीलंका की टेस्ट सीरीज में गेंदबाजी विभाग की जमकर तारीफ की।

INDvsSL- भारत के पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने भारतीय टीम को किया आगाह, श्रीलंका इस कारण दे सकती है चुनौती 3

संजय बांगड़ ने कहा कि “श्रीलंका एक अच्छी टीम रही है। श्रीलंका में आमतौर पर एक स्पिनर होता है जो टीम के लिए शानदार प्रदर्शन करता है और टीम उसका समर्थन भी करती है। लेकिन मोहाली और बैंगलोर में जिस तरह की पिचें हैं, वे स्पिन अनुकूल नहीं हो सकती हैं, वे कठिन पिचें हैं, मुझे नहीं लगता कि बहुत अधिक मोड़ होंगे।”

श्रीलंका के पास हैं 2 अच्छे गेंदबाज

भारत के पूर्व बल्लेबाजी कोच ने आगे माना कि इन पिच पर श्रीलंका के पास मौजूद 2 तेज गेंदबाजों से खतरा हो सकता है। यहां की पिच भारत के स्पिन गेंदबाजों के अनुकूल नहीं दिख रही हैं।

INDvsSL- भारत के पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने भारतीय टीम को किया आगाह, श्रीलंका इस कारण दे सकती है चुनौती 4

उन्होंने कहा कि,  “मुझे नहीं लगता कि कोई बदलाव होगा। टीम इंडिया लगातार सही रास्ते पर है और खिलाड़ियों को लगातार मौके दे रही है। हालांकि थोड़ा बहुत समायोजन की आवश्यकता जरूर होगी। बल्लेबाजों को देर तक खेलने की कोशिश करनी होगी और ध्यान देना होगा कि किस तरह से कठिन गेंदों का सामना करना है।”