श्रीलंका दौरे पर चयन ना होने से निराश हुआ ये भारतीय खिलाड़ी, सोशल मीडिया छोड़ने का किया फैसला 1

श्रीलंका दौरे के लिए 20 सदस्यीय टीम का चयन किया गया है. शिखर धवन को टीम का कप्तान बनाया गया है. वहीं भुवनेश्वर कुमार को उपकप्तान बनाया गया है. देवदत्त पडिक्कल, ऋतुराज गायकवाड़, नीतीश राणा, कृष्णप्पा गौतम, चेतन सकारिया और वरुण चक्रवर्ती को पहली बार भारत की टीम में चुना गया है.

आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को तो जगह मिली है, लेकिन घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को नजरंदाज किया गया है.

जयदेव उनादकट को नहीं मिली जगह

टीम इंडिया

जयदेव उनादकट भारतीय घरेलू क्रिकेट का एक बहुत बड़ा नाम है. पिछले 11 सालों से यह खिलाड़ी घरेलू क्रिकेट में जमकर विकेट निकाल रहा है, लेकिन इसके बावजूद इस खिलाड़ी को भारतीय टीम के चयनकर्ता नजरंदाज कर रहे हैं.

इन्होने भारत के लिए साल 2010 में डेब्यू किया था. हालांकि इसके बाद यह खिलाड़ी जल्द ही बाहर हो गया था. साल 2018 में एक बार फिर इन्होने भारत की टी-20 टीम में वापसी की थी, लेकिन उसी साल टीम से बाहर होने के बाद से वह भारतीय टीम में जगह नहीं बना पा रहे हैं.

जयदेव उनादकट ने छोड़ा सोशल मीडिया

टीम इंडिया

श्रीलंका दौरे के लिए नहीं चुने जाने के बाद सौराष्ट्र के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट ने सोशल मीडिया छोड़ दिया है. उन्होंने अपने फैंस को ट्वीट कर इस फैसले की जानकारी दी.

जयदेव उनादकट ने अपने अधिकारिक ट्विटर से एक संदेश जारी करते हुए लिखा, “जब मैं एक बच्चा था, तब मैंने इस खेल में अपना जुनून पाया. महान खिलाड़ियों को पूरे दिल से मैदान पर खेलते देखकर मुझे प्रेरणा मिली. इतने सालों में मुझे भी यही अनुभव करने का मौका मिला. हर चीज से ऊपर, मैंने उन दिग्गजों में कभी न हार मानने का जो जज्बा देखा था, वो मुझमें भी उतर आया.

मैं जब युवा था, तो कुछ लोगों ने मुझे कच्चा समझा और मुझ पर छोटे शहर से आकर बड़े ख्वाब देखने वाले का ठप्पा लगा दिया. हालांकि, धीरे-धीरे सबकी धारणा बदल गई. इसकी वजह ये रही कि मैं खुद बदल गया. मैं परिपक्व हुआ. मैंने कामयाबी, नाकामी, सबको संभालना सीखा.” 

ध्यान केंद्रित करने और मेहनत करने का समय

श्रीलंका दौरे पर चयन ना होने से निराश हुआ ये भारतीय खिलाड़ी, सोशल मीडिया छोड़ने का किया फैसला 2

जयदेव उनादकट ने आगे अपने संदेश में लिखा, “इस खेल ने मुझे बहुत कुछ दिया है. इसलिए मैं एक पल के लिए भी नहीं पछताने वाला हूं कि मैं क्यों नहीं?. या मेरा वक्त कब आएगा और मैंने ऐसा क्या गलत किया. करियर के इस मोड़ पर मैंने जो भी अनुभव हासिल किया है, मैं केवल उस चीज की सराहना करने जा रहा हूं. हो सकता है कि इसे लोग कमजोरी समझें. लेकिन मैं अपनी आक्रामकता मैदान के लिए बचाकर रखूंगा. मुझे सपोर्ट करने वाले सभी फैंस का शुक्रिया और आभार. अब अपने खेल पर और अधिक ध्यान केंद्रित करने और मेहनत करने का समय है. तब तक, सोशल-मीडिया डिटॉक्स मोड चालू है!.”

cricket is my first and last love, I know cricket only cricket, I love watching cricket because cricket is my passion and my passion is my work my favourite player Mike Hussey and Kl Rahul