आने वाले समय में जसप्रीत बुमराह जैसा गेंदबाज बन सकता हैं यह भारतीय

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

आने वाले समय में जसप्रीत बुमराह जैसा गेंदबाज बन सकता है यह स्पीड का सौदागर 

आने वाले समय में जसप्रीत बुमराह जैसा गेंदबाज बन सकता है यह स्पीड का सौदागर

भारतीय टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को इस समय दुनिया के सबसे बेहतरीन तेज गेंदबाज माने जाते हैं। बुमराह के खिलाफ मैच की किसी भी परिस्थिति में बल्लेबाजों के लिए रन बनाना मुश्किल ही होता है। यही वजह है कि वनडे क्रिकेट में वह दुनिया के नंबर एक गेंदबाज हैं वहीं युवा तेज गेंदबाज नवदीप सैनी भविष्य में बुमराह जैसा गेंदबाज बन सकते हैं।

150 किमी प्रति घंटे गेंदबाजी करने की क्षमता

आने वाले समय में जसप्रीत बुमराह जैसा गेंदबाज बन सकता है यह स्पीड का सौदागर 1

नवदीप सैनी की सबसे बड़ी खासियत उनकी गति है। आईपीएल 2018 में अपनी गति से उन्होंने बल्लेबाजों को जमकर परेशान किया था। इसी प्रदर्शन के बाद उन्हें भारतीय टीम में जगह मिली थी। घरेलू मैच और इंडिया ए के लिए भी उनका रिकॉर्ड बेहतरीन है।

वह आसानी से 150 किमी प्रति घंटे से तेज गेंद डाल सकते हैं। उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज में डेब्यू करने का मौका मिला था। वहां भी उन्होंने अपनी गति से सभी को प्रभावित किया था।

अभी सीखने की जरूरत

आने वाले समय में जसप्रीत बुमराह जैसा गेंदबाज बन सकता है यह स्पीड का सौदागर 2

जसप्रीत बुमराह अपने करियर की शुरुआत में इतने बेहतर गेंदबाज नहीं हुआ करते थे। उन्होंने समय के साथ खुद को बेहतर बनाया है। यही वजह है कि किसी भी बल्लेबाज को उनके खिलाफ रन बनाने के लिए जूझना पड़ता है।

नवदीप सैनी को भी उनकी तरफ खुद को बेहतर करना होगा। सैनी के पास गति है लेकिन योर्कर गेंद नहीं है। वनडे और टी-20 क्रिकेट में सफल होने  के लिए गेंदबाज के पास यह होना काफी जरूरी है। इसी वजह से उन्हें इसपर काम करना पड़ेगा।

चोट से भी सचेत रहने की जरूरत

आने वाले समय में जसप्रीत बुमराह जैसा गेंदबाज बन सकता है यह स्पीड का सौदागर 3

एक बेहतर गेंदबाज बनने के लिए नवदीप सैनी को चोट से बचकर रहना पड़ेगा। कई बेहतरीन युवा गेंदबाज चोट की वजह से इंटरनेशनल क्रिकेट में प्रतिभा के बावजूद अपनी पैर नहीं जमा पाते हैं। नवदीप सैनी को भी इसका ध्यान रखना पड़ेगा।

उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ डेब्यू टी-20 मैच में ही मैन ऑफ द मैच लेकर अपनी काबिलियत सिद्ध कर दी थी। उन्होंने उस मुकाबले में विंडीज पारी का 20वां ओवर मेडेन डाला था। बुमराह भी अभी तक अपने करियर में ऐसा नहीं कर पाए हैं।

Related posts