in ,

संयोग देखिये इस दिग्गज की जन्मतिथि है 8-4-63 और टेस्ट क्रिकेट में पुरे करियर में रन भी बनाये 8463

क्रिकेट जगत में हमें कई ऐसे रिकॉर्ड या संयोग देखने को मिलते है जो वाकई चौंकाने वाले होते है। आज अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को शुरू हुए तक़रीबन 141 साल हो गए है जिसमें हमें कई बड़े और छोटे रिकॉर्ड देखने को मिले है तो साथ ही कई बड़े-बड़े संयोग भी देखने को मिले है और आज हम ऐसे संयोग की बात करने वाले है जिसके बारे में जानकार आप भी सोच में पड़ जायेंगे।

गौरतलब हो कि इंग्लैंड क्रिकेट टीम के लिए कभी खेल चुके एलेक स्टुवर्ट आज इकलौते खिलाड़ी है जिनकी जन्म तिथि और टेस्ट क्रिकेट कैरियर के रन बिलकुल बराबर है।

इससे पूर्व आपको बता दें कि दिग्गज क्रिकेटर एलेक स्टुवर्ट का जन्म 8 अप्रैल साल 1963 में हुआ था और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कैरियर की शुरुआत 1989 में की थी जब इन्होंने अपना पहला मैच श्रीलंका के खिलाफ खेला था। यह एक वनडे मैच था। इसके बाद अपनी शानदार बल्लेबाजी से हमेशा अच्छी क्रिकेट खेली इस कारण लंबे समय तक टीम में बने रहे।

यह था अजीब और संयोग का कारनामा

बता दें कि इनका जन्म 8 अप्रैल 1963 को हुआ था अर्थात 8-4-63 जबकि अपने टेस्ट कैरियर में रन भी इतने ही 8463 रन बनाये थे। जी हां, यह वास्तव में बहुत बड़ा संयोग है कि इनकी जो जन्म तिथि है वहीं इनके टेस्ट क्रिकेट में रन भी है। क्रिकेट जगत में ये ऐसे अजीब जन्म तिथि के संयोग वाले वाले पहले खिलाड़ी है।

कैसा था टेस्ट के अलावा वनडे कैरियर

टेस्ट क्रिकेट में तो इन्होंने 133 मैचों में कुल 8,463 रन बनाये थे जिसमें 15 शतक भी शामिल थे। जिसमें इनका बेस्ट स्कोर 190 रन था। लेकिन अगर वनडे कैरियर पर नजर घुमाएं तो इन्होंने 170 मैच खेले थे जिसमें 31.60 की औसत से कुल 4,677 रन बनाये थे। साथ ही 4 शतक भी इनके नाम है।

एलेक स्टुवर्ट जिनके पिता मिकी स्टुअर्ट भी एक अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर रहे है और इंग्लैंड के लिए 8 टेस्ट मैच खेले थे। जिसमें उन्होंने 35 की औसत से 385 रन बनाये थे। जबकि एलेक खुद एक मुख्य रूप से विकेटकीपर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ त्रिकोणीय सीरीज से इस वजह से साउथ अफ्रीका ने इमरान ताहिर को दिखाया टीम से बाहर का रास्ता

इंग्लैंड में शानदार बल्लेबाजी करने वाले पृथ्वी शॉ ने इस दिग्गज भारतीय को दिया अपनी सफलता का पूरा श्रेय