महेन्द्र सिंह धोनी के इस साथी भारतीय खिलाड़ी ने किया संन्यास की घोषणा 1

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने इसी साल अपने इंटरनेशनल करियर को अलविदा कहा। महेन्द्र सिंह धोनी के अलावा इस साल कुछ और भारतीय खिलाड़ियों ने भी अलविदा कहा है। जिसमें सुरेश रैना और पार्थिव पटेल जैसे दो बड़े खिलाड़ियों का नाम भी शामिल है। इसी बीच इस साल के खत्म होते-होते एक और खिलाड़ी ने संन्यास का ऐलान कर दिया है।

सीएसके में धोनी के साथ खेले इस खिलाड़ी ने लिया संन्यास

महेन्द्र सिंह धोनी के साथ उनकी कप्तानी में खेले भारतीय क्रिकेटर यो महेश ने सभी तरह की क्रिकेट से अलविदा कह दिया है। तमिलनाडू के इस क्रिकेटर ने अपनी केवल 33 साल की उम्र में ही संन्यास की घोषणा कर दी।

आईपीएल

तमिलनाडू के तेज गेंदबाज यो महेश आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम से खेले हैं। जिसमें उन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स के लिए धोनी की कप्तानी में कुछ मैचों में खेलने में सफलता भी हासिल की।

यो महेश ने लिया संन्यास

यो महेश 2006 से ही क्रिकेट में सक्रिय थे। जिस दौरान उन्होंने घरेलू क्रिकेट में तमिलनाडू की टीम का प्रतिनिधित्व किया। जिसमें उन्होंने 50 प्रथम श्रेणी मैच, 60 लिस्ट ए मैच और 46 टी20 मैच खेले। यो महेश तेज गेंदबाज होने के साथ ही बल्लेबाजी भी कर लेते थे।

महेन्द्र सिंह धोनी के इस साथी भारतीय खिलाड़ी ने किया संन्यास की घोषणा 2

इस खिलाड़ी की बात करें तो उन्होंने आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए 2008 में आगाज किया था, जिसके बाद चेन्नई सुपर किंग्स के लिए भी खेले। लिस्ट ए क्रिकेट में यो महेश ने 1119 रन बनाने के साथ ही 253 विकेट भी हासिल किए हैं।

संन्यास के बाद बीसीसीआई और आईपीएल टीमों को दिया धन्यवाद

संन्यास के ऐलान के बाद उन्होंने क्रिकबज के साथ बात करते हुए कहा कि

“मैं बीसीसीआई का शुक्रिया अदा करता हूं, जिसने मुझे अंडर-19 और इंडिया-ए के स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व करने का मौका दिया। ये मेरे लिए सम्मान की बात रही है। मैं पूरे गर्व के साथ इसे अपने करियर का सबसे अच्छा समय कहता हूं।”

महेन्द्र सिंह धोनी के इस साथी भारतीय खिलाड़ी ने किया संन्यास की घोषणा 3

महेश ने आगे कहा कि

“मेरी दो आईपीएल टीमें- चेन्नई और दिल्ली का भी मेरे पर विश्वास दिखाने और मुझे महान खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम साझा करने का मौका देने के लिए शुक्रिया। आखिरी के पांच साल मैं चोटों से परेशान रहा लेकिन मैं इंडिया सीमेंट्स का मेरा साथ देने के लिए भी शुक्रिया कहना चाहता हूं। मैं अपने राज्य तमिलनाडु क्रिकेट संघ का भी मुझे 14 साल की उम्र से निखारने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं।”