भारत के लिए खेलने का सपना लेकर आए इस खिलाड़ी ने छोड़ी हांगकांग की कप्तानी

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

इस देश की कप्तानी छोड़ अब भारत के लिए रणजी खेलने को तैयार हुआ यह खिलाड़ी 

इस देश की कप्तानी छोड़ अब भारत के लिए रणजी खेलने को तैयार हुआ यह खिलाड़ी

साल 2018 में यूएई में खेले गए एशिया क्रिके़ट कप में भारत ने चैंपियन बनने में सफलता हासिल की थी लेकिन इस एशिया कप के ग्रुप दौर में भारत के सामने एक कमजोर टीम हांगकांग ने जबरदस्त चुनौती पेश की थी और हांगकांग की तरफ से वो चुनौती एक भारतीय खिलाड़ी की बदौलत ही हो सकी थी।

भारत के सामने चुनौती बने थे अंशुमान रथ

वो भारतीय खिलाड़ी थे अंशुमान रथ जो उस हांगकांग टीम का नेतृत्व कर रहे थे। एशिया कप के उस मैच में अंशुमान रथ ने अपनी बेहतरीन पारी की बदौलत एक समय तो भारत के खेमे में खलबली मचा दी थी।

अंशुमन रथ

भारत से मिले 283 रनों के लक्ष्य के सामने जब हांगकांग की टीम उतरी तो माना जा रहा था कि भारत आसानी से मैच को अपने पाले में कर लेगा लेकिन हांगकांग के भारतीय मूल के कप्तान अंशुममान रथ के इरादें कुछ और थे।

भारत के खिलाफ दम दिखाने वाले अंशुमान अब भारत के लिए दम दिखाने की तैयारी में

इस मैच में हांगकांग ने शानदार बल्लेबाजी का प्रदर्शन करते हुए पहले विकेट के लिए ही 174 रन की साझेदारी कर कप्तान रोहित शर्मा के माथे पर शिकन पैदा कर दी थी। हालांकि भारत ने आखिर में मुकाबला 26 रनों से जीता।

इस देश की कप्तानी छोड़ अब भारत के लिए रणजी खेलने को तैयार हुआ यह खिलाड़ी 1

लेकिन जिस तरह से अंशुमन रथ ने 73 रनों की पारी खेलकर साहस दिखाया वो तारीफ के काबिल रहा। अंशुमान रथ ने दुनिया को दिखाया कि उनमें बी प्रतिभा की कोई कमी नहीं है।

रणजी ट्रॉफी खेलने का सपनों के साथ छोड़ा हांगकांग का साथ

अब वहीं अंशुमान रथ हांगकांग की कप्तानी छोड़ भारत के लिए खेलने का सपना पाले भारत लौट आए हैं जिनका सपना रणजी में जगह बनाकर अपने आपको साबित करना है और उसी दौरान उन्हें खुश खबरी मिली और उन्हें उनक विदर्भ की स्थानीय टीम में शामिल कर लिया गया है।

इस देश की कप्तानी छोड़ अब भारत के लिए रणजी खेलने को तैयार हुआ यह खिलाड़ी 2

अंशुमान रथ ने नागपुर में किराये का मकान ले लिया है और क्लब क्रिकेट में उतर चुके हैं। हालांकि उन्हें एक साल के कूलिंग पीरियड को पूरा करना होगा। लेकिन वो अगले साल रणजी ट्रॉफी में विदर्भ के लिए खेलने के लिए उपलब्ध हो सकेंगे।

विदर्भ के लिए रजिस्टर्ड खिलाड़ी के रूप में हुए नामित

अंशुमान रथ क्लब क्रिकेट में उतर गए हैं और उन्होंने स्थानीय मैच में टी-20 में 38 रनों की पारी भी खेली। अपने रणजी में खेलने के सपने को लेकर अंशुमान ने बताया कि

भारत में मैं अपने पहले मैच में चौथे नंबर पर उतरा लेकिन दुर्भाग्य से मैच हाल गए। मैं नागपुर में रहता हूं औरर विदर्भ का रजिस्टर्ड हूं। मैंने अक्टूबर की शुरुआत में ही टीम से जुड़ने संबंधित पेपरवर्क को शुरू कर दिया था। ये सबकुछ बहुत तेजी के साथ हो गया। मुझे उम्मीद है कि मैं अगले सत्र में विदर्भ का प्रतिनिधित्व कर सकूंगा। मैं तब तक क्लब क्रिकेट खेलता रहूंगा। विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन ने मुझे स्थानीय खिलाड़ी के तौर पर रजिस्टर्ड किया है।”

इस देश की कप्तानी छोड़ अब भारत के लिए रणजी खेलने को तैयार हुआ यह खिलाड़ी 3

हांगकांग के साथ क्रिकेट खेलने से मुझे काफी मदद मिली। अभी नागपुर क्रिकेट एकेडमी में मिल रही सुविधाएं बेहतरीन हैं। मैं अब भी विकेट के साथ तालमेल बैठाने की कोशिश कर रहा हूं। मेरा कोई कोच हीं है इसलिए खुद से ही सब कुछ करने जैसा है, लेकिन एकेडमी के संस्थापक माधव बाकरे का पूरा सहयोग मिल रहा है।”

अब तो अंशुमान रथ अगले साल होने वाले आईपीएल में भी अनकैप्ड खिलाड़ी के तौर पर खेल सकते हैं। उनके पास भारत का पासपोर्ट मौजूद है। उन्होंने हांगकांग के लिए 18 वनडे मैचों में 51.75 की औसत से 828 रन बनाए हैं। वहीं प्रथम श्रेणी में 5 मैचों में 391 रन बनाए। वनडे में उनके नाम 14 विकेट भी हैं।

Related posts