9 बार अपनी टीम को रणजी चैम्पियन बना चूका यह भारतीय खिलाड़ी लेकिन भारतीय टीम में नहीं मिल रही है जगह | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

9 बार अपनी टीम को रणजी चैम्पियन बना चूका यह भारतीय खिलाड़ी लेकिन भारतीय टीम में नहीं मिल रही है जगह 

9 बार अपनी टीम को रणजी चैम्पियन बना चूका यह भारतीय खिलाड़ी लेकिन भारतीय टीम में नहीं मिल रही है जगह

साल 2017-18 सत्र का रणजी टूर्नामेंट खत्म हो चुका है।खेले गए इस ट्राॅफी मैच के फाइनल मुकाबले में दिल्ली टीम का मुकाबला विदर्भ टीम के साथ हुआ था। गौरतलब है कि विदर्भ टीम रणजी टूर्नामेंट के फाइऩल मुकाबले में पहली बार पहुंची थी और पहले ही बार दिल्ली टीम को पटखनी देते हुए ट्राॅफी पर कब्जा कर लिया।

रणजी से है वसीम का  खास रिश्ता

9 बार अपनी टीम को रणजी चैम्पियन बना चूका यह भारतीय खिलाड़ी लेकिन भारतीय टीम में नहीं मिल रही है जगह 1

विदर्भ टीम की तरफ से खेलने वाले वसीम जाफर ने अपनी टीम को फाइनल मुकाबले में जीत दिलाने में अहम भूमिका निभायी। हालांकि वे पहले भी कई मौके पर अपनी टीम को फाइनल मुकाबले में जीत का खिताब दिला चुके हैं।

9 बार बनाया टीम को चैंपियन

9 बार अपनी टीम को रणजी चैम्पियन बना चूका यह भारतीय खिलाड़ी लेकिन भारतीय टीम में नहीं मिल रही है जगह 2

39 वर्षीय वसीफ जाफर अब तक कुल 19 रणजी सीजन खेल चुके हैं। इसके अलावा वे विदर्भ से पहले मुंबई के लिए कप्तानी की बागडोर संभाल चुके हैं।

आपको शायद यह सुनकर हैरान होगी कि उनके द्वारा खेले गए कुल 19 रणजी सीजन में 9 बार अपनी टीम के लिए रणजी फाइनल खेल चुके हैं और इस दौरान उनकी टीम हर बार जीत हासिल कर लेती है।

9 बार अपनी टीम को रणजी चैम्पियन बना चूका यह भारतीय खिलाड़ी लेकिन भारतीय टीम में नहीं मिल रही है जगह 3

इस बार भी कुछ ऐसा देखने को मिला,जब उन्होंने विदर्भ की टीम को मिले दूसरी पारी में छोटे लक्ष्य के दौरान कप्तान फैज फैजल 9 रन बनाकर आउट हो गए। लेकिन उसके बाद बल्लेबाजी करने आए संजय रामास्वामी और वसीम जाफर ने अपनी टीम को जीत के मुहाने पर पहुंचा दिया।

रणजी टूर्नामेंट के फाइनल में खेली जबरदस्त पारी

9 बार अपनी टीम को रणजी चैम्पियन बना चूका यह भारतीय खिलाड़ी लेकिन भारतीय टीम में नहीं मिल रही है जगह 4

गौरतलब है कि वसीम जाफर ने दिल्ली के खिलाफ खेले गए फाइनल मुकाबले में अपने पहले पारी में बल्लेबाजी करते हुए 78 रनों की जबरदस्त पारी खेली,जिसके बाद अपने दूसरे पारी में नाबाद 17 रन बनाए।इस दौरान उन्होंने एक ही ओवर में चार चौके भी लगाए।

पहली बार फाइनल में इण्ट्री मारते हुए बन गयी चैम्पियन

9 बार अपनी टीम को रणजी चैम्पियन बना चूका यह भारतीय खिलाड़ी लेकिन भारतीय टीम में नहीं मिल रही है जगह 5

आपको बता दे, खेले गए इस फाइनल मुकाबले में टाॅस हारकर दिल्ली टीम ने पहले बल्लेबाजी की और पूरी टीम मात्र 295 रनों पर ही सिमट गयी,जिसके बाद बल्लेबाजी करने आयी विदर्भ टीम ने जबरदस्त बल्लेबाजी करते हुए 547 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा कर दिया,जिसके लिए उन्होंने 163.4 का खेल खेला।

इसके बाद दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने आयी दिल्ली टीम के बल्लेबाजों ने एक बार फिर निराश करते हुए 280 रन ही बना सकी,जिसे विदर्भ टीम ने महज 5 ओवर खेलकर पूरा कर लिया और इस प्रकार 9 विकेट से जीत दर्ज कर ली.

Related posts

Leave a Reply