चेन्नई सुपर किंग्स के युवा खिलाड़ी प्रशांत सोलंकी ने महेन्द्र सिंह धोनी को दिया इस बात का श्रेय 1

इंडियन प्रीमियर लीग के मंच पर अब तक महेन्द्र सिंह धोनी कई युवा खिलाड़ियों का मार्गदर्शक बने हैं। महेन्द्र सिंह धोनी सालों से आईपीएल के इस मंच पर युवा खिलाड़ियों को कामयाबी का खूब मंत्र दे रहे हैं। जिसका बड़ा फायदा युवा खिलाड़ी उठा रहे हैं, और धोनी की देखरेख में खूब चमक बिखेरने में कामयाब रहे।

महेन्द्र सिंह धोनी ने इस बार भी किया युवा खिलाड़ियों का मार्गदर्शन

आईपीएल के 15वें सीजन में भी चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलने वाले कई युवा खिलाड़ियों को महेन्द्र सिंह धोनी का मार्गदर्शन मिला। जिससे कई युवा खिलाड़ी धोनी की सलाह के बाद अपना दम दिखाने में कामयाब रहे।

These three players can replace MS Dhoni in the next season

ऐसा ही कुछ इस बार के सीजन में मुंबई के युवा स्पिन गेंदबाज प्रशांत सोलंकी के साथ देखने को मिला। इस आईपीएल में 22 साल के युवा स्पिन गेंदबाज प्रशांत सोलंकी को चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलने का मौका मिला, जहां उन्होंने अपनी चमक बिखेरी।

प्रशांत सोलंकी ने बताया, कैसे माही भाई की सलाह आती है काम

प्रशांत सोलंकी को वैसे सीजन के लगभग मैचों में बाहर ही रहना पड़ा। उन्हें अंतिम दो मैच में मौका दिया गया। जहां वो गुजरात टाइटंस के खिलाफ डेब्यू मैच में तो कामयाब नहीं हो सके, लेकिन दूसरे मैच में उन्होंने 20 रन देकर 2 विकेट झटके।

चेन्नई सुपर किंग्स के युवा खिलाड़ी प्रशांत सोलंकी ने महेन्द्र सिंह धोनी को दिया इस बात का श्रेय 2

राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ बढ़िया गेंदबाजी करने के बाद प्रशांत सोलंकी ने अपने अनुभव को साझा किया है। प्रशांत ने बताया कि कैसे राजस्थान के खिलाफ हेटमायर से छक्का खाने के बाद धोनी की सलाह पर उन्होंने शिमरोन हेटमायर को फंसा लिया।

छक्का खाने के बाद माही भाई से मिली खास सलाह

प्रशांत सोलंकी ने एक इंटरव्यू में महेन्द्र सिंह धोनी को लेकर बात की। उन्होंने कहा कि, “माही भाई चीजों को बहुत सरल रखते हैं। चाहे आप लेग-स्पिन गेंदबाजी कर रहे हों, गुगली या टॉप-स्पिन, अगर आप रन नहीं दे रहे हैं, तो आप अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं।उन्होंने हमें निर्देश दिया था कि हमें डॉट गेंद फेंकनी है क्योंकि टी20 क्रिकेट में यही दबाव बनाता है।”

चेन्नई सुपर किंग्स के युवा खिलाड़ी प्रशांत सोलंकी ने महेन्द्र सिंह धोनी को दिया इस बात का श्रेय 3

प्रशांत ने आगे कहा कि “दूसरे मैच में, मैं थोड़ी देर से गेंदबाजी करने आया क्योंकि हमारे पास एक बड़ा स्कोर नहीं था और वो (धोनी) गेंदबाजों को इधर-उधर कर रहे थे। मेरी पहली गेंद पर मुझे छक्का लग गया। फिर उन्होंने मुझे संकेत दिया कि मुझे अपनी लैंथ पीछे खींचनी है और गेंद थोड़ी शॉर्ट रखनी है। बल्लेबाज को बड़े छोर पर स्ट्रोक खेलने दें। तब मैं सफल रहा।”

“उन्होंने (हेटमायर) मुझे एक चौका मारा और फिर माही भाई ने मुझे एक बार फिर मैदान के बड़े हिस्से का उपयोग करने का संकेत दिया। मैंने उनके पैरों पर टॉप स्पिनर गेंद की और उन्होंने इसे मिस कर दिया और डीप मिड-विकेट पर आउट हो गए।”