क्रिकेट के कुछ ऐसे रिकॉर्ड को जो अबतक टूट नहीं पाए हैं

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

क्रिकेट के कुछ ऐसे रिकॉर्ड जो अब तक हैं अटूट 

क्रिकेट के कुछ ऐसे रिकॉर्ड जो अब तक हैं अटूट

क्रिकेट के सभी फॉर्मेटों में से टेस्ट क्रिकेट को सबसे महत्वपूर्ण फॉर्मेट माना जाता हैं। बता दें टेस्ट क्रिकेट को पिछले 140 सालों से लगातार खेला जा रहा हैं। इन टेस्ट मैचों के दौरान हर खिलाड़ी को अपनी अलग पहचान बनाने का मौका मिलता हैं। टेस्ट क्रिकेट को किसी भी खिलाड़ी को परखने का अच्छा तरीका माना जाता हैं।

गौरतलब है, कि 9वीं शताब्दी से क्रिकेट में टेस्ट मैच खेला जा रहा है। इन टेस्ट मैचों के दौरान कई अन्य रिकॉर्ड वह व्यक्तिगत रिकॉर्ड भी बने हैं। वैसे रिकार्ड्स के मामलें में एक कहावत कही जाती हैं कि रिकॉर्ड टूटने के लिए बने होते हैं।

लेकिन भारतीय टीम के साथ अभी तक ऐसा हुआ नहीं हैं। बता दें हमारे पास 5 ऐसे रिकॉर्ड हैं, जो 19वीं शताब्दी के आखिर से अभी तक नहीं टूटे है। आइए नजर डालते हैं उन रिकार्ड्स पर।

एक पूर्ण टेस्ट पारी में रनों का बेहतरीन प्रतिशत

क्रिकेट के कुछ ऐसे रिकॉर्ड जो अब तक हैं अटूट 1
बता दें ये रिकॉर्ड विश्व में खेले गए सबसे पहले टेस्ट मैच के दौरान बना था। ये बात सुनने में थोड़ी से अजीब जरूर हैं, लेकिन सच हैं। इस रिकॉर्ड को ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बेहतरीन बल्लेबाज चार्ल्स बैनरमैन ने बनाया था।

उन्होंने अपनी टीम को अकेले ही 165 रन दिए थे। जिसके बाद उनकी टीम का कुल स्कोर 245 रनों का हो गया था। इस मैच के दौरान ऑस्ट्रेलिया ने 45 रनों के साथ अपनी जीत दर्ज कराई थी।

इस रिकॉर्ड के आस पास अभी तक महज एक ही खिलाड़ी माइकल स्लेटर पहुंचे थे। लेकिन वो भी इस रिकॉर्ड को तोड़ने में नाकामयाब रहे।

10 नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए सबसे ज्यादा रन

क्रिकेट के कुछ ऐसे रिकॉर्ड जो अब तक हैं अटूट 2
आज के समय में सबसे ज्यादा रनों का स्कोर आगे के नम्बरों के बल्लेबाजो द्वारा बनाया जाता है। लेकिन नंबर 10 पर बल्लेबाजी करते हुए किसी बल्लेबाज का सबसे ज्यादा रनों का रिकॉर्ड बनाना थोड़ा चौंकाने जैसा हैं।

16वां टेस्ट मैच इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुआ था। जब ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 551 रन बनाए थे। जिसके बाद लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम के दसवें नंबर के बल्लेबाज वॉल्टर रीड ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए 117 रन बनाए हैं।

जो कि अभी तक 10वें नंबर पर बल्लेबाजी करने का रिकॉर्ड है।

गेंदबाजी में सबसे कम औसत

क्रिकेट के कुछ ऐसे रिकॉर्ड जो अब तक हैं अटूट 3
ये क्रिकेट के मैदान का सबसे अजीब और नया रिकॉर्ड हैं। पहले के समय में क्रिकेट के मैदान में बल्लेबाजी करना बिल्कुल भी आसान नहीं था। ऊपर से उस समय के बेहतरीन गेंदबाज जॉर्ज लेहमन किसी भी अच्छे से अच्छे बल्लेबाज को अपने आगे टिकने ही नहीं देते थे।

बता दे इन्होने साल 1896 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ गेंदबाजी करते हुए 28 रन देकर 9 विकेट अपने नाम किए थे। जिसके बाद मैदान में आये इंग्लिश गेंदबाज जिम लेकर ने 1956 में 10 विकेट चटकाकर एक नया रिकॉर्ड बनाया था।

लेकिन लेहमन महज 18 टेस्ट मैच खेलकर रिटायर हो गए थे। जिसमें उनका औसत 10.75 और स्ट्राइक रेट 34.1 था। बता दें उन्होंने अपने टेस्ट क्रिकेट के करियर में 112 विकेट अपने नाम किये थे।

टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में इस गेंदबाज का नाम सबसे कम गेंदबाजी औसत और स्ट्राइक रेट देने के लिया दर्ज किया गया हैं। मौजूदा समय तक इनके रिकॉर्ड के आस पास कोई भी गेंदबाज नहीं पहुंच पाया हैं।

 

50 साल से अब तक अटूट हैं क्रिकेट के ये रिकॉर्ड

https://youtu.be/Hrd9SZ1X3iA

अगर आपकों हमारा आर्टिकल पसंद आया, तो प्लीज इसे लाइक करें। अपने दोस्तों तक ये खबर सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें और साथ ही अगर आप कोई सुझाव देना चाहते हैं, तो प्लीज कमेंट करें। अगर आपने अब तक हमारा पेज लाइक नहीं किया हैं, तो कृपया अभी लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट हम आपको जल्दी पहुंचा सकें।

Related posts