टेस्ट मैचों में सर्वाधिक लक्ष्य का पीछा करने वाली टॉप 10 टीमें | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

टेस्ट मैचों में सर्वाधिक लक्ष्य का पीछा करने वाली टॉप 10 टीमें 

10. वेस्टइंडीज ( 344-1 )
1984 में लॉर्ड्स में 80 के दशक की प्रमुख टीम वेसर इंडीज ने 344 तक पहुंचने पर बस एक ही विकेट खोया था. इस टीम का एक असाधारण रन रेट 5.19 था.

9. वेस्टइंडीज ( 348-5 )
वेस्ट इंडीज ने 1969 की गर्मियों में ऑकलैंड में न्यूजीलैंड के खिलाफ केवल 5 विकेट खो कर 348 का लक्ष्य हासिल किया था. उस वक़्त ये वाकई बढ़िया उपलब्धि थी.

8. श्रीलंका ( 352-9 )
श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 9 विकेट खोकर 352 का लक्ष्य पूरा किया था. कुमार संगकारा और सहयोगियों के इस शानदार प्रयास से टीम इस सूची में आठवे स्थान पर है.

7. ऑस्ट्रेलिया ( 362-7 )
जॉर्ज टाउन में वेस्ट इंडीज के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ने 7 विकेट के नुकशान पर 362 का स्कोर हासिल कर लक्ष्य पूरा किया.

6. ऑस्ट्रेलिया ( 369-6 )
1999 में होबार्ट में एक मजबूत पाकिस्तान टीम के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ने 6 विकेट खोकर यह लक्ष्य प्राप्त किया था. जीत में मुख्य भूमिका जस्टिन लैंगर और एडम गिलक्रिस्ट ने अपने अपने शतक के ज़रीय निभाई थी.

5. भारत ( 387-4 )
मुंबई हमलों के कुछ दिनों बाद ही भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ 4 विकेट खोकर 387 का लक्ष्य पूरा किया था. सेवानिवृत्त सौरव गांगुली के स्थान पर आये युवराज सिंह ने नाबाद 85 और सचिन तेंदुलकर ने 103 (नॉट आउट )रन बनाए थे.

4. ऑस्ट्रेलिया ( 404-3 )
महान डॉन ब्रैडमैन ने अपनी टीम के लिए नाबाद 173 रन बनाए थे, और आर्थर मोरिस ने 182 रनों का योगदान दिया था जिससे कि टीम यह जीत हासिल कर सकी.

3. भारत ( 406-4 )
सुनील गवास्कर और भरोसेमंद जीआर विश्वनाथ के शतक से भारत 1976 में पोर्ट ऑफ स्पेन में वेस्टइंडीज के खिलाफ 403 का टारगेट प्राप्त करने में सफल हो सका.

2. दक्षिण अफ्रीका ( 414-4 )
यह लक्ष्य पाने के लिए एबी डिविलियर्स ने पहली पारी में 63 और दूसरी पारी में नाबाद 106 रनों का योगदान दिया था. 4 विकेट खोकर 414 का लक्ष्य हासिल करने के साथ दक्षिण अफ्रीका सूची में दूसरे स्थान पर है.

1. वेस्ट इंडीज ( 418-7 )
2003 में एंटीगुआ में ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ रामनरेश सरवन और शिवनारायण चंद्रपॉल दोनों ने अपनी टीम के लिए शतक जड़े और टीम निर्धारित लक्ष्य पाने में सफल रही.

 

Related posts

Leave a Reply