ट्रेवर पेनी

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व फील्डिंग कोच ट्रेवर पेनी को वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम ने बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है. वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड ने अगले 2 सालों के लिए ट्रेवर को अपनी राष्ट्रीय टीम का हिस्सा बनाया है. 2 जनवरी से पेनी विंडीज टीम के साथ जुड़ जाएंगे. बता दें वेस्टइंडीज और आयरलैंड के बीच 3 वनडे और 3 टी20 मैचों की सीरीज खेली जाएगी.

फील्डिंग कोच बनते ही ट्रेविस ने जाहिर की खुशी

ट्रेवर पेनी

सीमित ओवर क्रिकेट में ट्रेवर पेनी को वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम का फील्डिंग कोच नियुक्त किया गया है. इसपर खुशी जताते हुए पेनी ने कहा,

मैं किरेन पोलार्ड और फिल सिमंस की अगुवाई वाले क्रिकेटरों और स्टाफ के साथ काम करने का मौका मिलने से उत्साहित हूं.

मुझे पिछले कुछ सालों में इस टीम के कई सदस्यों के साथ काम करने का मौका मिला है और सीपीएल से जुड़ा होने के कारण कैरेबियाई क्षेत्र मेरे लिये ‘घर से बाहर घर’ जैसा है.

ट्रेविस के पास है कोचिंग का अनुभव

ट्रेवर पेनी

रवि शास्त्री ने कोच बनते ही टीम इंडिया से इस दिग्गज को दिखाया था बाहर का रास्ता, अब बना इस टीम का कोच 1

वेस्टइंडीज के फील्डिंग कोच नियुक्त हुए ट्रेवर पेनी ने क्रिकेट करियर में वॉरविकशर के लिए 158 फर्स्ट क्लास व 291 लिस्ट ए मैच खेले थे. लेकिन पेनी के पास कोचिंग का काफी अनुभव है. वह भारत, श्रीलंका, नीदरलैंड और अमेरिका की राष्ट्रीय टीमों के साथ काम कर चुके हैं. इतना ही नहीं भारत की घरेलू लीग इंडियन प्रीमियर लीग में भी पेनी ने किंग्स इलेवन पंजाब, डेक्कन चार्जर्स और कोलकाता नाइटराइडर्स के सहायक कोच रह चुके हैं.

रवि शास्त्री के आते ही दिग्गज को किया गया था बाहर

ट्रेवर पेनी

ट्रेवर पेनी को विश्व कप जीतने के बाद 2011 में भारतीय क्रिकेट टीम का फील्डिंग कोच नियुक्त किया गया था. उनके कार्यकाल के दौरान टीम इंडिया ने 2013 चैंपियंस ट्रॉफी जीती. दिग्गज के साथ बदसलूकी करते हुए, अगले साल ही 2014 में उन्हें बिना बताए टीम से हटा दिया गया.

असल में ये घटना काफी नाटकीय थी क्योंकि साल 2014 में जब रवि शास्त्री टीम इंडिया के डायरेक्टर पद पर नियुक्त हुए तो उन्हें बिना बताए 3 महीने की छुट्टी पर भेज दिया गया. इसके बाद पेनी वापसी टीम इंडिया में नहीं हो सकी.