इन अहम मौकों पर चूकना दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स को पड़ गया भारी

abhinigam / 07 May 2016

क्रिकेट डेस्‍क। मार्कस स्टोइनिस के हरफनमौला प्रदर्शन की बदौलत किंग्स इलेवन पंजाब ने शनिवार को आईपीएल-9 में दिल्ली डेयरडेविल्स को नौ रनों से शिकस्त देकर अपनी तीसरी जीत दर्ज की। यह मैच कभी दिल्‍ली के पक्ष में तो कभी पंजाब के पक्ष में जाता दिखा।

आइए नजर डालते हैं किन-किन मौकों पर मैच का नक्‍शा पलटा-

स्‍टोइनिस का दोहरा प्रदर्शन :

मार्कस स्‍टोइनिस के लिए शनिवार का दिन भाग्‍यशाली साबित हुआ। उन्‍होंने पहले बल्‍लेबाजी में 44 गेंदों पर तीन चौके व दो छक्‍कों की मदद से 52 रन बनाए। यह आईपीएल में उनका सर्वश्रेष्‍ठ स्‍कोर तथा पदार्पण अर्धशतक भी रहा। इसके बाद गेंदबाजी में भी उन्‍होंने तीन विकेट चटकाए। स्‍टोइनिस ने घातक हुई दिल्‍ली के क्विंटन डी कॉक (52), सैम बिलिंग्‍स (6) और संजू सैमसन (49) को अपना शिकार बनाया। ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाड़ी के दोहरे प्रदर्शन की बदौलत ही पंजाब टूर्नामेंट में तीसरी जीत दर्ज कर सका।

साहा की बल्‍लेबाजी कर गई कमाल –

पंजाब की टीम 7 ओवर में 48 रन ही जोड़ पाई थी। यहां से रिद्धिमान साहा ने पंजाब की रनगति में इजाफा करना शुरु किया। देखते ही देखते उन्‍होंने पंजाब को सशक्‍त स्‍कोर तक पहुंचा दिया। साहा ने 33 गेंदों में सात चौकों की मदद से 52 रन बनाए।

ओपनिंग जोड़ी ने छुड़ाए पसीने-

दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के ओपनर्स क्विंटन डी कॉक (52) और संजू सैमसन (49) ने दिल्‍ली को ठोस शुरुआत दिलाई। दोनों ने 70 रन की साझेदारी की। इन दोनों ने टीम के लिए शानदार नींव खड़ी की, लेकिन अन्‍य बल्‍लेबाज इसका फायदा उठा नहीं सके।

नायर के बाद बदल गया मैच-

करुण नायर (23) के आउट होने के बाद मैच का नक्‍शा बदल गया। पंजाब के गेंदबाज दिल्‍ली के बल्‍लेबाजों पर पूरी तरह हावी हो गए। पंजाब के गेंदबाजों ने कार्लोस ब्रैथवेट (12) और क्रिस मॉरिस (पसबसउ 17 रन) जैसे आक्रामक बल्‍लेबाजों को बांधे रखा और खुलकर कोई शॉट नहीं खेलने दिया।

मोहित का ओवर निर्णायक रहा –

मोहित शर्मा ने पारी का 19वां ओवर किया। तब दिल्‍ली को जीत के लिए 12 गेंदों में 28 रन की दरकार थी। लग रहा था कि दिल्‍ली मैच जीत जाएगा क्‍योंकि उसके पास क्रिस मॉरिस जैसा धाकड़ बल्‍लेबाज मौजूद था। मगर मोहित ने चतुराई भरी गेंदबाजी करते हुए ओवर में सिर्फ तीन रन दिए और पंजाब के हौसलों को बढ़ा दिया। इसके बाद पंजाब ने मुकाबला 9 रन से अपने नाम किया।