यू-19 क्रिकेट : देसाई, राना के अर्धशतक से भारत जीता 1

मुंबई, 1 फरवरी (आईएएनएस)| हार्विक देसाई (75), हिमांशु राना (58) की अर्धशतकीय पारियों के बाद अनूकुल रॉय की बेहतरीन गेंदबाजी की बदौलत भारत की अंडर-19 टीम ने बुधवार को इंग्लैंड अंडर-19 टीम को ब्रेबोर्न स्टेडियम में खेल गए दूसरे एकदिवसीय मैच में 123 रनों से मात दी। इसी के साथ मेजबानों ने पांच मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर कर ली है।

भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए राना और देसाई की बेहतरीन बल्लेबाजी की मदद से निर्धारित 50 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 287 रन बनाए। मेजबानों ने इंग्लैंड को 33.4 ओवरों में 158 रनों पर ही समेट कर जीत हासिल की। इंग्लैंड की तरफ से पिछले मैच के हीरो डेलरे रॉवलिंस ने सर्वाधिक 46 रन बनाए। उसके छह बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके। इंज़माम उल हक़ ने FICA के अधिकारियों को पाकिस्तान आने का न्योता दिया

टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम को अच्छी शुरुआत नहीं मिली। पृथ्वी शॉ (12) 20 के कुल स्कोर पर इंग्लैंड के कप्तान मैथ्यू फिशर का शिकार हो गए। लेकिन इसके बाद राना ने शुभम गिल (28) के साथ भारत को शुरुआती झटके से ऊबारते हुए टीम का स्कोर 100 के पार पहुंचाया।

दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 82 रनों की साझेदारी की। 102 के कुल स्कोर पर यह दोनों बल्लेबाज पवेलियन लौट चुके थे। अभिषेक शर्मा (24) और प्रियम गर्ग (1) ज्यादा देर टिक नहीं सके।

मध्यक्रम में देसाई ने एक छोर संभाले रखा और टीम को मजबूत स्कोर के करीब पहुंचाया। वह 237 के कुल स्कोर पर आउट हुए। उनके बाद कमलेश नागारकोटी (नाबाद 36) और शिवम सिंह (26) ने उनके काम को आगे बढ़ाते हुए इंग्लैंड के सामने मजबूत लक्ष्य रखा।अनदेखी फ़ोटो: जाने कैसी है नागपुर टी-ट्वेंटी के हीरो बुमराह की पर्सनल लाइफ

इंग्लैंड की शुरुआत भी खराब रही। 12 के कुल स्कोर पर उसने अपने सलामी बल्लेबाज मैक्स होल्डन को खो दिया। होल्डन बिना खाता खोले आउट हुए। इसके बाद इंग्लैंड के विकेटों का सिलसिला रुका नहीं और मेहमान लगातार विकेट खोते रहे।

उसके लिए सबसे बड़ी साझेदारी 40 रनों की हुई। चौथे विकेट के लिए यह साझेदारी ओले पोल (26) और इयुन वुड्स (19) के बीच हुई। इन दोनों के बाद रॉविंस अकेले लड़ते रहे। दूसरे छोर से उन्हें साथ नहीं मिला और पूरी टीम 158 रनों पर पवेलियन लौट गई।

भारत के लिए रॉय ने सर्वाधिक तीन विकेट लिए। शिवम मविल, ईशान पोरेल को दो-दो विकेट मिले। नागारकोटी और अभिषेक के हिस्से एक-एक सफलता आई। अज़हर अली कप्तान बने रहने के लायक नहीं है: मोइन खान