U-19 क्रिकेट विश्वकप : ‘मांकडिंग’ नियम का इस्तेमाल कर वेस्टइंडीज ने ज़िम्बाब्वे के बल्लेबाज़ को दिखाया पवेलियन का रास्ता

U-19 क्रिकेट विश्वकप : ‘मांकडिंग’ नियम का इस्तेमाल कर वेस्टइंडीज ने ज़िम्बाब्वे बल्लेबाज़ को हराया

U-19 विश्वकप मे एक बहुत बड़ा विवाद खड़ा हो गया है. वेस्ट इंडीज के तेज गति के गेंदबाज़ कीमो पॉल ने मांकडिंग नियम की मदद से ज़िम्बाब्वे के अंतिम बल्लेबाज़ को आउट किया. क्वाटर फाइनल मे जगह बनाने की लिए ज़िम्बाब्वे को अंतिम ओवर मे 3 रनों की जरुर थी, और एक विकेट शेष थी , लेकिन कीमो पॉल ने गौर किया, कि ज़िम्बाब्वे के बल्लेबाज़ रिचर्ड नगरावा गेंद फेके जाने से पहले आगे बढ़ के रन लेना चाह रहे थे, तभी कीमो पॉल बिना हाथ घुमाये गेंद विकेट पर दे मारी और नगरावा रन-आउट दिए गए .

ज़िम्बाब्वे जीत से वंचित रह गया और वेस्टइंडीज मैच जीत कर क्वाटर फाइनल मे प्रवेश कर गया. नियम के अनुसार अंपायर ने आउट दिया .

 

वेस्टइंडीज ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 226 रन बनाये, ज़िम्बाब्वे ने लक्ष्य का पीछा करते हुए अच्छी शुरुआत की परन्तु अंतिम कुछ ओवेरो मे जल्दी जल्दी विकेटे खो दी और अंतिम ओवर में जीत के 3 रनों की जरुरत थी अगर ज़िम्बाब्वे मैच जीत जाता तो वेस्टइंडीज क्वाटर फाइनल की दौड़ से बाहर हो जाता.

यह घटना 1947 में भारत-ऑस्ट्रेलिया के एक मैच की याद दिलाता है, पहली बार किसी बल्लेबाज को इस तरह आउट करने की कोशिश की थी. मांकड़ के इस कदम की काफी आलोचना हुई थी और इसे खेल भावना के खिलाफ बताया गया था.
मांकड ने बिल ब्राउन को रन आउट किया था. बिल ब्राउन रनिंग क्रीज से बाहर थे और माकंड ने उन्हें आउट कर दिया था उस श्रृंखला मे बिल ब्राउन 2 बार इस तरीके से आउट हुए थे. 

 

 

Related Topics