इंग्‍लैंड के क्रिकेटरों के भद्दे रवैये से परेशान हुआ अंपायर, LIVE मैच में छोड़ दिया मैदान 1

आपने यह तो देखा होगा कि, कई बार अंपायर के निर्णय को गलत करार करते हुए किसी भी टीम का कोई खिलाड़ी या फिर पूरी टीम ही मैदान से बाहर चली जाती है, लेकिन यह शायद ही सुना हो कि, टीम की गलती के कारण कोई अंपायर गुस्से में मैदान से बाहर चला गया हो। जी हां, यह किस्सा सुनने में तो अजीब लग रहा है, लेकिन यह सच है जो कि आज ही के दिन 1885 में हुआ था।

इंग्‍लैंड के क्रिकेटरों के भद्दे रवैये से परेशान हुआ अंपायर, LIVE मैच में छोड़ दिया मैदान 2

मैदान में वापस नहीं लौटा अंपायर

21 मार्च 1885 को इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांचवा टेस्ट मेलबर्न में हो रहा था। ऑस्ट्रेलियाई टीम बल्लेबाजी कर रही थी, पर इंग्लैंड की टीम भी आक्रामक अंदाज में दिख रही थी। इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने अंपायर के फैसले को लेकर कई बार आक्रामक रवैया भी किया, जिसको लेकर विवाद भी खड़ा होने की स्थिति बनने लगी।

अंपायर जैक होजेस इस बात को लेकर काफी परेशान होने लगे। इसके बाद उन्होंने ब्रेक के बाद मैदान पर आने से ही मना कर दिया। इस तरह जब वह मैदान पर वापस नहीं आए तो ऑस्ट्रेलियाई एकादश के टॉम गैरेट ने कमान अपने हाथ में ली।

अंपायर तो इंग्लैंड की टीम से परेशान हो गया, लेकिन टीम पर इसका कोई भी असर नहीं हुआ। इसका नतीजा यह हुआ कि टीम शानदार बल्लेबाजी करते हुए 98 रनों से जीत गई।

इंग्‍लैंड के क्रिकेटरों के भद्दे रवैये से परेशान हुआ अंपायर, LIVE मैच में छोड़ दिया मैदान 3

इंग्लैंड की टीम का रहा दबदबा

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच हुए इस मैच के दौरान आस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया जिसमें पहली पारी में उन्होंने 163 रन हासिल किए। ग्‍याहरवें नंबर के बल्‍लेबाज फ्रेडरिक स्‍पोफोर्थ ने अक्रामक बल्लेबाजी करते हुए इस दौरान 70 गेंदों पर 50 रन बनाए। सबसे ज्यादा रन बनाते हुए उन्होंने 4 चौके और एक छक्का लगाया।

जॉन ट्रंबल ने इस दौरान नाबाद 34 रनों की पारी खेली। ऑस्ट्रेलिया टीम को जवाब देते हुए टीम के कप्तान ऑर्थर श्रुसबरी ने नाबाद 105 रन बनाए, बिली बर्न्‍स ने 74 रन और बिली बेट्स ने 61 रन बनाए। जॉनी ब्रिग्‍स ने 43 रन की पारी खेलते हुए टीम में योगदान दिया, इसके बाद इंग्लैंड की टीम ने पहली पारी में 386 रनों का स्कोर बनाया।

दूसरी पारी में भी आस्ट्रेलिया पर बना दबाव

दूसरी पारी के दौरान ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी विलियम ब्रोस ने 35 रन बनाए। इंग्लैंड के तीन तेज गेंदबाजों जॉर्ज उलयेट, विल्‍फ फ्लॉवर्स और विलियम एटेवेल के दबाव के चलते ऑस्ट्रेलिया ने 125 रन ही बनाए। बॉबी पील के विकेट लेने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम 125 रन पर ही सिमट गई, जिसके बाद इंग्लैंड ने यह पारी अपने नाम की।