भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी हाल ही में आईपीएल के स्थगित होने के बाद अपने-अपने घरों में आराम कर रहे हैं. टीम इंडिया को अगले महीने की शुरुआत में इंग्लैंड दौरे पर जाना है. ये दौरा लगभग तीन महीने से ज्यादा का रहने वाला है.

इंग्लैंड में टीम इंडिया पहले न्यूज़ीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप ( का फाइनल खेलेगी और फिर इंग्लैंड के साथ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज़ खेलेगी. गौरतलब है कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच 18 जून से साउथैम्टन में खेला जाने वाला है.

भारत के अनलकी है 18 जून की तारीख

इससे पहले भारत के लिए एक अनचाहा कनेक्शन सामने आया है जिससे भारत को इस बार भी दो चार होना पड़ सकता है. अगर पिछले पांच-छह सालों की बात की जाए तो भारत के लिए 18 जून की तारीख काफ़ी अनलकी साबित हुई है.

भारत ने साल 2015 में बांग्लादेश के खिलाफ 18 जून को एकदिवसीय मुकाबला खेला था, इस मुकाबले में भारतीय टीम को बांग्लादेश (Bangladesh) से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी. इस मैच को हारने के बाद दूसरा मैच भी भारत हार गया था, इस तरह बांग्लादेश के खिलाफ उसकी पहली वनडे सीरीज में हार थी.

टीम इंडिया को करना पड़ा है कमजोर टीमों से हार का सामना 

इसके बाद साल 2016 में भारत ने 18 जून को जिम्बांबे के खिलाफ मुकाबला खेला. इस मुकाबले में एक बार फिर से टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत को दो रन से हार का सामना करना पड़ा.

हालांकि बाद में भारत ने सीरीज को अपने नाम कर लिया था. इसके बाद साल 2017 में टीम इंडिया ने पाकिस्तान के खिलाफ 18 जून को मैच खेला. चैंपियंस ट्राफी के फाइनल मुकाबले के पहले भारतीय टीम अजेय थी लेकिन इस खिताबी मुकाबले में उसको हार का सामना करना पड़ा.

क्या इस बार इस जाल को तोड़ पाएगी टीम इंडियाः

इस तरह लगातार तीन सालों में 18 तारीख को हुए मैचों में टीम को हार का सामना करना पड़ा. अब भारतीय टीम एक बार फिर 18 जून को ही विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में कीवी टीम के खिलाफ खेलने जा रहे हैं. अब देखना दिलचस्प होगा कि क्या भारतीय टीम टेस्ट 18 का जाल काट पाएगी या नहीं?

One reply on “टीम इंडिया पर मंडरा रहा 18 के फ़ैक्टर का खतरा, छह साल में टीम के अनलकी रही ये तारीख”

Comments are closed.