उन्मुक्त चंद

इस साल उत्तराखंड की रणजी टीम की कप्तानी उन्मुक्त चंद करेंगे। क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड ने इन्हें कप्तानी सौंप दी है। उन्मुक्त चंद ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 60 मैच खेले हैं, जिसमें 34.2 के औसत से 3184 रन बनाए हैं। पौड़ी निवासी पवन सुयाल भी घरेलू सत्र में दिल्ली के लिए खेलते हैं। उन्होंने 20 मैचों में 60 विकेट अपने नाम किए हैं। इसमें दो बार एक पारी में पांच विकेट लेने का कारनामा भी किया है।

2012 में अंडर 19 विश्व कप टीम की उन्मुक्त चंद ने की थी कप्तानी

उन्मुक्त चंद

2012 में उन्मुक्त चंद ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था, जब उन्होंने फाइनल में मेजबान ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 111 रनों की सनसनीखेज पारी के साथ भारत को विश्व कप (अंडर -19) में खिताबी जीत के लिए टीम का नेतृत्व किया था। तब उन्मुक्त के प्रदर्शन की सराहना कर उनकी तुलना विराट कोहली से की जा रही थी।

अपने चौथे रणजी ट्रॉफी मैच में रेलवे के खिलाफ शानदार 151 रन बनाने के बाद, उन्मुक्त एक आक्रामक सलामी बल्लेबाज के रूप में दिल्ली की टीम में जगह बनाने में कामियाब रहे। उन्होंने प्रथम श्रेणी में 8 शतकीय पारी खेली लेकिन निरंतरता एक चुनौती थी क्योंकि उन्मुक्त को शीर्ष पर बहुत जिम्मेदार बल्लेबाज माना जाता था।

2017 में उन्मुक्त को दिल्ली टीम से किया गया था बाहर

दिल्ली में जगह खोने के बाद इस रणजी टीम की कप्तानी करते नजर आएंगे उन्मुक्त चंद 1

2017 में उन्मुक्त ने दिल्ली की टीम से अपनी जगह खो दी थी। इसपर उन्मुक्त ने कहा

मुझे उम्मीद नहीं थी कि मुझे टीम से बाहर कर दिया जाएगा। मैंने दिल्ली के लिए खेलते हुए अपना 100 प्रतिशत दिया। लेकिन चयनकर्ताओं ने मुझे टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया। अगर केवल मुझे ही पता होता कि मुझे टीम से बाहर किया जाने वाला है तो मैं दूसरे राज्य में चला जाता।

उत्तराखंड की कप्तानी पर बोले उन्मुक्त चंद

उत्तराखंड का प्रतिनिधित्व करने के अपने कदम पर उन्होंने कहा,

मैं फिर से खेलने का मौका मिलने पर उत्साहित हूं। मुझे दिल्ली छोड़ने में दुख हो रहा है, लेकिन मेरे पास कोई ऑप्शन नहीं है। मुझे यह अवसर देने के लिए मैं उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन का शुक्रगुजार हूं। मैं अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद करता हूं।”