विजय हजारे ट्रॉफी : झारखंड, सर्विसेस की जीत

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

विजय हजारे ट्रॉफी : झारखंड, सर्विसेस की जीत 

विजय हजारे ट्रॉफी : झारखंड, सर्विसेस की जीत

चेन्नई, 1 अक्टूबर: झारखंड और सर्विसेज ने अपने हरफनमौला प्रदर्शन के दम पर सोमवार को विजय हजारे ट्रॉफी के ग्रुप-सी में खेले गए अपने-अपने मैचों में जीत हासिल की। सर्विसेस ने जम्मू एवं कश्मीर को 102 रनों से हराया, वहीं वीजेडी प्रणाली (किसी कारण मैच के बाधित होने पर ओवर और रनों में संतुलन बिठाकर इस्तेमाल में आने वाली प्रणाली) से झारखंड ने रोमांचक मैच में बंगाल को दो रनों से मात दी।

विजय हजारे ट्रॉफी : झारखंड, सर्विसेस की जीत 1

श्री रामचंद्र मेडिकल कॉलेज ग्राउंड पर खेले गए मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी सर्विसेस ने नकुल शर्मा (123) की शतकीय पारी और कप्तान रजत पलिवल (63) के अर्धशतक के दम पर जम्मू एवं कश्मीर के खिलाफ 322 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा किया।

इस पारी में जम्मू एवं कश्मीर के लिए कप्तान परवेज रसूल ने सबसे अधिक पांच विकेट लिए। इसके अलावा, मोहम्मद मुद्दसिर और उमर नजीर मीर ने दो-दो सफलताएं हासिल की।

सर्विसेस के गेंदबाजों अर्जुन शर्मा (4/43) और नितिन तंवर (3/44) ने जम्मू एवं कश्मीर को 323 रनों का लक्ष्य हासिल नहीं करने दिया और उसकी पारी 220 रनों पर ही समेट दी।

जम्मू एवं कश्मीर के लिए इस पारी में पारस शर्मा ने सबसे अधिक 93 रन बनाए। इसके अलावा, टीम का कोई भी बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया।

टीआई साइकिल ग्राउंड पर खेले गए ग्रुप-सी के एक अन्य मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए बंगाल ने झारखंड के खिलाफ अभिमन्यु ईश्वरन (149) के बेहतरीन शतक से निर्धारित 50 ओवरों में आठ विकेट खोकर 267 रन बनाए।

बंगाल के लिए अभिमन्यु के अलावा, कप्तान मनोज तिवारी (69) का अर्धशतक भी अहम रहा।

झारखंड के लिए वरुण एरोन ने बंगाल के तीन बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा, वहीं शाहबाज नदीम को दो सफलताएं हासिल हुईं।

बंगाल के लिए 268 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी झारखंड ने भी आनंद सिंह (156) के शतक और कप्तान ईशान किशन (56) के अर्धशतक के अलावा वीजेडी प्रणाली के माध्यम से 49 ओवरों में नौ विकेट गंवाकर 264 रन बनाते हुए जीत हासिल की।

बंगाल ने इस मैच में लगभग जीत हासिल कर ली थी, लेकिन वीजेडी प्रणाली के कारण उसके हाथ से जीता हुआ मैच फिसल गया और केवल दो रनों से उसे हार का सामना करना पड़ा।

Related posts

Leave a Reply