INDvSA: विक्रम राठौड़ ने कहा, रोहित शर्मा ने सलामी बल्लेबाजी के मुद्दे को शांत कर दिया है

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

INDvSA: रोहित शर्मा ने टेस्ट ओपनर की जगह पक्की कर ली है: बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर 

INDvSA: रोहित शर्मा ने टेस्ट ओपनर की जगह पक्की कर ली है: बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच रांची में टेस्ट सीरीज का अंतिम मैच खेला जा रहा है। मैच के पहले दिन भारतीय टीम ने 3 विकेट पर 224 रन बनाये। बारिश की वजह से 58 ओवर का ही खेल हो पाया। कप्तान विराट कोहली ने सीरीज के लगातार तीसरे मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया।

INDvSA: रोहित शर्मा ने टेस्ट ओपनर की जगह पक्की कर ली है: बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर 1

रोहित शर्मा ने जड़ा शतक

INDvSA: रोहित शर्मा ने टेस्ट ओपनर की जगह पक्की कर ली है: बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर 2

पहले टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक बनाने के बाद रोहित शर्मा ने इस मैच की पहली पारी में भी शतक जड़ दिया। उन्होंने 130 गेंदों में अपना शतक पूरा किया। दिन का खेल खत्म होने के समय वह 164 गेंदों में 117 रन बनाकर पिच पर टिके थे।

बल्लेबाजी के लिए मुश्किल पिच पर रोहित शुरुआत में जूझते दिखे लेकिन सेट होने के बाद तेजी से रन बनाये। 117 रनों की इस पारी में उन्होंने 14 चौके के साथ 4 छक्के लगाये हैं। टेस्ट मैचों में यह उनका छठवां शतक है।

सलामी बल्लेबाजी करवाना सही फैसला

INDvSA: रोहित शर्मा ने टेस्ट ओपनर की जगह पक्की कर ली है: बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर 3

वनडे और टी-20 में दुनिया के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में गिने जाने वाले रोहित शर्मा अभी तक टेस्ट में कुछ खास नहीं कर पाए थे। सलामी बल्लेबाजी का मौका मिलने के बाद उन्होंने बेहतरीन खेल दिखाना शुरू कर दिया है। उनके सलामी बल्लेबाज पर टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने कहा

“रोहित इतने अच्छे खिलाड़ी हैं कि उन्हें किसी फॉर्मेट से बाहर रखा ही नहीं जा सकता। उसके साथ पारी की शुरुआत करवाना सही फैसला था। उन्होंने अभी जितने रन बनाये हैं, उसने सलामी बल्लेबाजी के मुद्दे को अभी के लिए शांत कर दिया है।”

सब कुछ बदल सकते हैं

INDvSA: रोहित शर्मा ने टेस्ट ओपनर की जगह पक्की कर ली है: बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर 4

भारत के लिए जब वीरेंद्र सहवाग सलामी बल्लेबाजी करते थे तो तेजी से रन बनाकर नीचे के बल्लेबाजों के लिए काम आसान कर देते थे। रोहित ने सभी तक ऐसा ही किया है। विक्रम राठौड़ ने आगे कहा

“यदि उनके जैसा बल्लेबाज ऊपर अच्छा करता है तो टीम के लिए सब कुछ बदल देते हैं। ऐसा विदेशी दौरे पर भी होगा। वह एक ऐसे अनुभवी खिलाड़ी हैं और मुझे नहीं लगता कि आपको उसकी तकनीक से छेड़छाड़ करने की जरूरत है। उन्हें सिर्फ अपने गेम प्लान में मानसिक बदलाव की जरूत थी।”

Related posts