विक्रम राठौर ने बताया कैसे सुलझाएंगे लम्बे समय से चली आ रही मध्यक्रम की परेशानी

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

विक्रम राठौड़ ने कहा ये 2 खिलाड़ी सुलझा देंगे टीम इंडिया के नंबर 4 की समस्या 

विक्रम राठौड़ ने कहा ये 2 खिलाड़ी सुलझा देंगे टीम इंडिया के नंबर 4 की समस्या

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज का पहला टी-20 मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था. अब सीरीज का दूसरा टी-20 मैच 18 सितंबर को मोहाली के आईएस बिंद्रा क्रिकेट स्टेडियम में खेला जायेगा. सीरीज के दूसरे टी-20 मैच से पहले अपनी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने मध्यक्रम के बल्लेबाजों को लेकर कई रोचक बातें कही है.

विक्रम राठौड़ ने कहा ये 2 खिलाड़ी सुलझा देंगे टीम इंडिया के नंबर 4 की समस्या 1

मनीष पांडे और श्रेयस अय्यर पर रखेंगे भरोसा

मनीष पांडे

भारतीय टीम पिछले 2-3 सालों में कई मध्यक्रम के बल्लेबाजों को अजमा चुकी है, लेकिन कोई भी अब तक उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाया है. भारतीय टीम के चयनकर्ताओं ने विश्व कप 2019 के बाद अपना भरोसा मनीष पांडे और श्रेयस अय्यर पर दिखाया है. भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर ने भी माना है, कि अगर मध्यक्रम को मजबूत करना है, तो मनीष पांडे और श्रेयस अय्यर पर भरोसा रखना होगा और उन्हें समर्थन देने के लिए ज्यादा से ज्यादा मौके देने होंगे.

मनीष और श्रेयस का समर्थन करने की जरुरत

विक्रम राठौड़ ने कहा ये 2 खिलाड़ी सुलझा देंगे टीम इंडिया के नंबर 4 की समस्या 2

श्रेयस अय्यर और मनीष पांडे के बारे में बात करते हुए भारतीय बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने कहा,

“सभी खिलाड़ियों को अपने अवसरों को भुनाने की जरूरत है. श्रेयस अय्यर और मनीष पांडे दोनों ने ही अच्छी संख्या में मैच खेल लिए हैं. पूरी टीम दोनों का समर्थन कर रही है और हम आगे भी उनका समर्थन करना जारी रखेंगे, वे निश्चित रूप से भविष्य में हमें अच्छे परिणाम देंगे. दोनों ही खिलाड़ी लम्बे समय तक भारत के लिए अच्छा करने की काबिलियत रखते हैं, इसलिए हमें उन्हें समर्थन देने की भी जरुरत है. 

ऋषभ पंत को टीम की जरूरतों को समझना होगा

India vs South Africa 2019

साथ ही मध्यक्रम के एक और बल्लेबाज ऋषभ पंत के बारे में बात करते हुए विक्रम राठौर ने कहा,

ऋषभ पंत का आक्रामक रवैया निश्चित रूप से टीम के लिए बहुत ख़ास है, लेकिन आपकों टीम की जरूरतों को भी समझना होगा और मैच की परिस्थितियों को देखते हुए ही बल्लेबाजी करनी होगी. निश्चित रूप से वह एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी है, सिर्फ उन्हें अपने माइंडसेट पर काम करने की जरुरत है.”

Related posts