2006 की चैंपियंस ट्रॉफी में वेस्टइंडीज की टीम से खेला था यह भारतीय खिलाड़ी

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

2006 की चैंपियंस ट्रॉफी में वेस्टइंडीज की टीम के लिए फील्डिंग कर चूका है ये भारतीय खिलाड़ी 

2006 की चैंपियंस ट्रॉफी में वेस्टइंडीज की टीम के लिए फील्डिंग कर चूका है ये भारतीय खिलाड़ी

साल 2006 की चैंपियंस ट्रॉफी… यह वह एक ऐसा टूर्नामेंट था, जिसे भारतीय खेल प्रेमी अभी तक भुला पाए होगे. मेजबान होने की नाते टीम इंडिया को जीत का फेवरेट माना गया था, लेकिन टीम मात्र तीन मैच खेलने के बाद भी प्रतियोगिता से बाहर हो गई. टीम इंडिया तो टूर्नामेंट में सफल ना हो सकी. मगर वेस्टइंडीज ने इस चैंपियंस ट्रॉफी में कमाल का प्रदर्शन कर फाइनल तक का सफर तय किया था.

2006 की चैंपियंस ट्रॉफी में वेस्टइंडीज की टीम के लिए फील्डिंग कर चूका है ये भारतीय खिलाड़ी 1

इस टूर्नामेंट का एक मैच ऐसा भी रहा था, जिसमें वेस्टइंडीज की टीम के लिए एक भारतीय खिलाड़ी ने मैदान पर फील्डिंग की थी. जी हां, आपने एकदम सही पढ़ा विंडीज के लिए भारतीय खिलाड़ी की फील्डिंग…..

ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के बीच खेला गया था यह मुकाबला

वेस्टइंडीज

2006 की चैंपियंस ट्रॉफी का यह मुकाबला मुंबई के ब्राबोर्न क्रिकेट स्टेडियम में वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था. इस मैच में वेस्टइंडीज की टीम के लिए मुंबई क्रिकेट टीम के खिलाड़ी विनायक सामंत फील्डिंग करने के लिए मैदान पर उतरे थे.

दरअसल वाकया कुछ ऐसा था, कि ऑस्ट्रेलिया की पारी के 24वें ओवर के दौरान रोनोको मोर्टन के चोटिल हो जाने के बाद मुंबई के विकेटकीपर विनायक सामंत को मैदान पर वेस्टइंडीज के लिए फील्डिंग करने के लिए बुलाया गया था.

वेस्टइंडीज के सामने थी विकट परिस्तिथि

वेस्टइंडीज

टूर्नामेंट के लिए वेस्टइंडीज की टीम के पास 14 खिलाडी थे, लेकिन मैच के दौरान शिवनारायण चंद्रपॉल को तेज बुखार आ गया था, जिसके चलते वह मैच नहीं खेल सके थे, जबकि तेज गेंदबाज कोरी कोलीमोर पिता बनने के कारण वापस वेस्टइंडीज लौट चुके थे.

मैच में 71 रनों की पारी खेलने वाले वेस्टइंडीज के कप्तान ब्रायन लारा को भी फील्डिंग के दौरान पैर में एंठन के चलते मैदान से बाहर जाना पड़ा था. इस कारण अब एक भी वेस्टइंडीज का खिलाड़ी उपलब्ध ना होने के चलते मुंबई के विनायक सामंत को फील्डिंग के लिए बुलाया गया था. विंडीज ने यह मुकाबला 10 विकेट से जीता था.

ऐसा रहा विनायक का करियर

2006 की चैंपियंस ट्रॉफी में वेस्टइंडीज की टीम के लिए फील्डिंग कर चूका है ये भारतीय खिलाड़ी 2

46 वर्षीय विनायक सामंत ने कुल 101 फर्स्ट क्लास मैच खेले और 28.19 की औसत से वह 3496 रन बनाने में सफल रहे. प्रथम श्रेणी क्रिकेट में विनायक के नाम पर दो शतक और 22 अर्द्धशतक भी दर्ज रहे.

विनायक सामंत का मुंबई क्रिकेट टीम की सफलता में एक बहुत बड़ा हाथ भी रहा हैं. साल 2011 में विनायक सामंत ने अपना अंतिम फर्स्ट क्लास मैच खेला था.

Related posts