विराट कोहली टेस्ट में क्लाइव लॉयड, स्टीव वॉ और रिकी पोंटिंग से भी सफल कप्तान

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

विराट कोहली टेस्ट में क्लाइव लॉयड, स्टीव वॉ और रिकी पोंटिंग से भी सफल कप्तान 

विराट कोहली टेस्ट में क्लाइव लॉयड, स्टीव वॉ और रिकी पोंटिंग से भी सफल कप्तान

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली की अगुवाई में टीम ने कई सीरीज अपने नाम किये है विश्व कप में भी सेमीफाइनल में कुछ गलती के कारण टीम बाहर हो गयी थी लेकिन लीग मुकाबलों में टीम ने अच्छा प्रदर्शन दिखाया है. इसके बाद  वेस्टइंडीज को उसके ही जमीन पर क्लीन स्वीप कर विराट ने एक और रिकॉर्ड अपने नाम क्र लिया है, अब कोहली टेस्ट मैच जीतने वाले कप्तानो की लिस्ट में सबसे आगे निकल गये है, अब भारत को अपनी जमीन पर दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध 2अक्टूबर से टेस्ट मैच खेलना है.

विराट कोहली टेस्ट में क्लाइव लॉयड, स्टीव वॉ और रिकी पोंटिंग से भी सफल कप्तान 1

विराट कोहली बने टेस्ट के सफल कप्तान

विराट कोहली

आपको जान कर हैरान हो जायेंगे कि विराट कोहली महेंद्र सिंह धोनी, पोंटिंग और सौरव गांगुली जैसे कप्तानो से भी आगे निकल गये है.  ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार भारतीय टीम ने कोहली की कप्तानी में 48 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमे उन्होंने 28 में जीत दर्ज की है इनका जीत प्रतिशत है 58.33.

वहीं स्टीव वॉ का जीत प्रतिशत जहां 71.9 है, तो पोंटिंग का जीत प्रतिशत 62.3 है. भारत के कप्तानो में महेंद्र सिंह धोनी इस सूची में 45 के जीत प्रतिशत के साथ 20वें और सौरव गांगुली 42.86 के जीत प्रतिशत के साथ 22वें स्‍थान पर आते हैं.

विराट सिर्फ जीत के लिए खेलते हैं टेस्ट

विराट कोहली टेस्ट में क्लाइव लॉयड, स्टीव वॉ और रिकी पोंटिंग से भी सफल कप्तान 2

ऐसा नहीं है कि विराट कोहली को यह जीत हरदम से मिलती आई है, उन्होंने अपने खेल में कुछ बदलाव किया है जिसके चलते उनको यह जीत नसीब हो रही है, अब कोहली 4 गेंदबाज 1 ऑलराउंडर और 6 बल्लेबाजो के साथ मैदान पर उतरते हैं.

जिस समय विराट की टीम को मैच ड्रा और मैच जीतने का विकल्प मिलता है, तो वो मैच जीतने पर ज्यादा ध्यान देते हैं और उसको ही अपना लक्ष्य बनाते हैं.

अब ऐसे में कोहली की टीम के सामने बड़ी चुनौती इयान चैपल, क्लाइव लॉयड और विव रिचर्ड्स की बराबरी करने की भी है. इन सभी कप्तानो की टीम का जीत भले ही ज्यादा ना हो लेकिन इसके बाद भी उनको हराना इतना आसन नहीं था, अब ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि विराट की टीम कामयाबी के कितने शिखर छू पाती है.

Related posts