Virat Kohli

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच (IND vs SA) खेले गए टेस्ट सीरीज के आखिरी मुकाबले को 7 विकेट से जीत कर दक्षिण अफ्रीका ने तीन मुकाबलों की टेस्ट सीरीज को 2-1 से अपने नाम कर लिया है. इसी के साथ Virat Kohli की अगुवाई वाली भारतीय टीम का दक्षिण अफ्रीका की जमीन पर टेस्ट सीरीज जीतने का सपना भी टूट गया है. भारत ने टेस्ट सीरीज का आगाज़ जीत के साथ किया था, लेकिन सीरीज में बल्लेबाजों के निराशाजनक प्रदर्शन के चलते भारत को सीरीज गंवानी पड़ी है.

फिर से फ्लॉप रहे रहाणे और पुजारा

Virat Kohli

इस बड़ी सीरीज में टीम को अपने अनुभवी बल्लेबाज़ चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद थी. लेकिन एक बार फिर दोनों बल्लेबाजों ने टीम को निराश किया और इस सीरीज में पूरी तरह से फ्लॉप साबित हुए.

भारतीय टीम ने अपने सीनियर खिलाडियों को कई मौके दिए और इसके लिए श्रेयस अय्यर और हनुमा विहारी जैसे बल्लेबाजों को भी टीम से बाहर रखा गया. लेकिन इस पूरी सीरीज में दोनों बल्लेबाजों के बल्ले से एक भी बड़ी पारी नहीं निकली. इस सीरीज में रहाणे ने 6 पारियों में सिर्फ 136 रन बनाए, जबकि पुजारा ने इतनी ही पारियों में 124 रन बनाए.

मैच के बाद कप्तान का बड़ा बयान

Team India में अब क्या होगा पुजारा-रहाणे का भविष्य? Virat Kohli ने सुना दिया अपना फैसला 1

मैच के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने बल्लेबाजों को हार का जिम्मेदार ठहराया, लेकिन उन्होंने आने वाले समय में बदलाव के सवाल पर कुछ भी बोलने से इन्कार कर दिया. इस सवाल के जवाब में कप्तान ने कहा कि,

“बल्लेबाजी ने हमें निश्चित तौर पर मायूस किया, खासकर आखिरी दो मैचों में, जब हमें सबसे ज्यादा जरूरत थी. मैं यहां बैठकर ये नहीं बता सकता कि भविष्य में क्या होगा. ये चयनकर्ताओं का फैसला है. मेरा इसमें कोई हाथ नहीं है.”

पुजारा-रहाणे पर सलेक्टर्स करेंगे फैसला

Team India में अब क्या होगा पुजारा-रहाणे का भविष्य? Virat Kohli ने सुना दिया अपना फैसला 2

भारतीय क्रिकेट टीम में पुजारा और रहाणे के भविष्य के बारे में बात करते हुए कप्तान ने कहा कि,

“जहां तक रहाणे और पुजारा की बात है तो पहले भी कहा था और अभी भी कहूंगा कि हमने चेतेश्वर और अजिंक्य का लगातार समर्थन किया है क्योंकि जिस तरह के बल्लेबाज वो हैं और जैसी पारियां उन्होंने खेली हैं. दूसरे टेस्ट की दूसरी पारी में उनकी पारियों ने हमें एक अच्छे स्कोर तक पहुंचाया था. एक टीम के तौर पर हम ऐसी पारियों को अहमियत देते हैं. चयनकर्ता क्या करते हैं और उनके दिमाग में क्या है इस बारे में कुछ नहीं कह सकता.”