विराट कोहली

भारतीय क्रिकेट टीम ने टेस्ट क्रिकेट इतिहास में एक से एक शानदार जीत हासिल की है। वैसे पूरे टेस्ट क्रिकेट इतिहास को देखे तो भारत ने कई यादगार जीत को हासिल किया है तो साथ ही जबरदस्त प्रदर्शन कर दुनिया को दिखाया है कि हम किसी से कम नहीं है। लेकिन इस बीच पिछले कुछ सालों में भारतीय टीम ने जो प्रदर्शन किया है वो भी एक अभूतपूर्व कामयाबी कही जा सकती है।

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम का रहा है जबरदस्त प्रदर्शन

भारतीय टीम ने पिछले कुछ साल में विराट कोहली की कप्तानी में बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया। विराट कोहली ने वैसे तो साल 2014 में ऑस्ट्रेलिया के दौरे से ही फुल टाइम कप्तानी संभाल ली थी। जब महेन्द्र सिंह धोनी ने इस्तीफा दे दिया था।

डीआरएस

इसके बाद से विराट कोहली भारतीय टीम के कप्तान हैं और उनकी कप्तानी में टीम का प्रदर्शन लगातार बेहतर से बेहतर होता जा रहा है। इस दौरान भारत ने साल 2018-19 की टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में मात दी थी।

विराट कोहली ने 2014 के एडिलेड टेस्ट को याद करते हुए कही ये बड़ी बात

विराट कोहली ने जब ऑस्ट्रेलिया के साल 2014 के दौरे पर महेन्द्र सिंह धोनी की गैरमौजूदगी में एडिलेड टेस्ट मैच में कप्तानी संभाली  थी उसी में उन्होंने दिखा दिया था कि भारतीय टीम अब आने वाले समय में ऑस्ट्रेलिया को कड़ी चुनौती देने के लिए तैयार है और विराट कोहली ने टीम में ऐसा जोश और उत्साह उसी मैच में भर दिया था।

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने इस टेस्ट को बताया भारतीय क्रिकेट के लिए मील का पत्थर 1

इसी कारण से भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने मंगलवार को अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक फोटो को शेयर किया है और उस फोटो में उन्होंने एडिलेड टेस्ट की तस्वीरों को साझा करते हुए उस मैच में अपने टेस्ट क्रिकेट इतिहास के सबसे खास पल बताया है उस मैच को उन्होंने भारतीय क्रिकेट के लिए मील का पत्थर कहा है।

विराट कोहली ने कहा वो टेस्ट मैच भारतीय क्रिकेट के लिए था मील का पत्थर

विराट कोहली ने उस टेस्ट मैच की तस्वीर को पोस्ट करते हुए कैप्शन में लिखा कि “आज हम वो टीम हैं उस सफर का ये टेस्ट काफी अहम हिस्सा रहा है। एडिलेड में 2014 में खेले गए टेस्ट मैच में दोनों ही टीमों की तरफ से काफी भावनाएं जुड़ी थी। जिन लोगों ने देखा था उनके लिए भी ये शानदार था। हालांकि हम मैच नहीं जीत पाए थे लेकिन इसने हमें सिखाया था कि अगर हम अपना सबकुछ लगा देंगे तो कुछ भी संभव है क्योंकि हम कुछ ऐसा करने के लिए समर्पित हैं जिसकी शुरुआत काफी मुश्किल है। लेकिन हमने इस मैच को लगभग जीत ही लिया था। हम सभी इसे लेकर समर्पित थे. टेस्ट टीम के तौर पर ये हमारे सफर का मील का पत्थर रहेगा।”

उस टेस्ट मैच के हाल के बारे में आपको बताते हैं जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 517 रनों पर पारी घोषित की और भारत ने अपनी पहली पारी में 444 रनों का स्कोर खड़ा किया। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी 290 रनों पर घोषित कर भारत को 364 रनों का लक्ष्य दिया जिसके जवाब में भारत ने 315 रन बनाकर जीत की कोशिश की लेकिन आखिर में चूक गए। कोहली ने दोनों ही पारियों में शतक जड़ा था।