Virat Kohli ने क्रिस्टियानो रोनाल्डो के लिए लिखा इमोशनल पोस्ट

मोरक्को से मिली हार के बाद पुर्तगाल के साथ-साथ फुटबॉल के महान खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो का भी वर्ल्ड कप जीतने का सपना अधूरा रह गया, जिसके बाद क्रिकेट जगत के महान खिलाड़ी विराट कोहली (Virat Kohli) ने अपने पसंदीदा फुटबॉलर के लिए एक संदेश साझा किया। कतर में चल रहे वर्ल्ड कप से पुर्तगाल बाहर हो गयी है, जिसमें अनुमान लगाया जा रहा है कि यह टूर्नामेंट रोनाल्डो का आखिरी टूर्नामेंट है। इस हार के बाद कोहली ने रोनाल्डो के लिए बीते सोमवार को इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर के साथ मैसेज शेयर किया। Virat Kohli के इस मैसेज को क्रिकेट जगत ही नहीं बल्कि फुटबॉल के प्रमियों से भी बड़ी प्रशंसा मिली।

विराट ने रोनाल्डो के लिए लिखी दिल छू लेने वाली बात

virat kohli and cristiano ronaldo

Virat Kohli ने लिखा,“आपने इस खेल में और दुनिया भर के खेल प्रशंसकों के लिए जो कुछ भी किया है, उसे कोई ट्रॉफी या कोई खिताब जरा सा भी कम नहीं कर सकता है. कोई भी खिताब यह नहीं बता सकता कि आपने लोगों पर क्या प्रभाव डाला है? जब हम आपको खेलते हुए देखते हैं तो मैं और दुनिया भर के कई लोग क्या महसूस करते हैं.”?

किंग कोहली ने आगे कहा, ”यह कोई खिताब नहीं बताएगा. वह भगवान की ओर से एक गिफ्ट है. एक ऐसे व्यक्ति के लिए एक वास्तविक आशीर्वाद, जो हर बार अपने दिल से खेलता है और किसी भी खिलाड़ी के लिए कड़ी मेहनत और समर्पण और सच्ची प्रेरणा का प्रतीक है. आप मेरे लिए सर्वकालिक महान हैं.”

View this post on Instagram

A post shared by Virat Kohli (@virat.kohli)

रोनाल्डो के पास वर्ल्ड कप के अलावा फुटबॉल जगत की तमाम बड़ी ट्राफियां है जिसका सपना इस बार मोरक्को ने 1-0 से मात देकर तोड़ दिया। मोरक्को अफ्रीका प्रांत की पहली टीम है, जो सेमी-फाइनल में अपनी जगह बनाने में कामयाब हुई है।

रोनाल्डो का आखिरी वर्ल्ड कप

रोमांचक मुकाबले में मिली हार के बाद मैदान पर रोनाल्डो रोते हुए नजर आए क्योंकि कुछ हद तक उन्हें भी अंदेशा है कि यह उनका आखिरी वर्ल्ड कप हो सकता है। इसके बाद अगला वर्ल्ड चार वर्षों बाद खेला जाएगा जबतक दिग्गज फुटबॉलर की उम्र 41 साल हो जाएगी जो कि फुटबॉल जगत में काफी ज्यादा आंकी जाती है।

रोनाल्डो के पास बतौर पुर्तगाल का कप्तान दिखाने के लिए दो बड़ी ट्राफियां यूरो कप और नेशन्स लीग है जबकि विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम एक भी आईसीसी ट्राफी नहीं जीत सकी है। उनकी कप्तानी में टीम का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशीप में सह विजेता रहना है, जिसके फाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड जीत गयी थी।