विराट कोहली ने नहीं निभाया बचपन के कोच से किया हुआ वादा, कोच ने दुखी मन से व्यक्त किया प्रतिक्रिया

sagar mhatre / 24 August 2016

विराट कोहली के कोच राजकुमार शर्मा हैं, और उन्हें लगता हैं, कि कोच माता पिता से कम नहीं हैं, और अपने बेटे की तरह उन्होंने विराट कोहली को कोचिंग की हैं.

यह भी पढ़े: ब्रेट ली का विराट कोहली कों लेकर अब तक का बड़ा बयान

राजकुमार शर्मा को द्रोणाचार्य पुरस्कार से नवाजा जा चुका हैं, और जब विराट कोहली 10 साल के थे तबसे वे उनके कोच हैं.

विराट कोहली के कोच राजकुमार शर्मा ने कहा, “मैं ये सम्मान पाकर काफी खुश हूं, और विराट कोहली जैसे खिलाड़ी को तैयार करना मेरे लिए खुशी की बात हैं.”

यह भी पढ़े: भारतीय कप्तान फंसे बड़ी मुसीबत में

उन्होंने आगे कहा, “जब विराट 10 साल के थे और मेरे साथ अभ्यास करते थे, अब भी वो जब अभ्यास करते हैं मुझे उनमे कोई फर्क नहीं दिखता.”

विराट अब भी मेरे लिए वहीं विराट हैं जो बचपन में थे. राजकुमार शर्मा को आखिरकार द्रौणाचार्य पुरस्कार मिल गया और ये विराट कोहली की कामयाबी हैं. विराट कोहली ने उनको पोर्ट अॉफ स्पेन से कॉल करके बधाई दी.

यह भी पढ़े: रमीज़ राजा ने की आल-टाइम XI की घोषणा, 3 भारतीयों की मिली जगह, अकरम टीम से बाहर

राजकुमार शर्मा ने काफी निराश होते हुए कहा,कि “जब विराट कोहली को अर्जुन पुरस्कार मिला था, तब उन्होंने मुझे कहा था, कि अगली बार आपको द्रौणाचार्य पुरस्कार मिलेगा और मैं आपके लिए तालियां बजाउंगा. लेकिन विराट कोहली वेस्टइंडीज के खिलाफ टी ट्वेंटी सीरीज खेलेंगे, और वो उस अवॉर्ड के समय नहीं होंगे.”

विराट कोहली के शुरूआती दिनों में वो अपना आपा खो देते थे, और उनपर कई बार सवाल उठाये गये थे. लेकिन बाद में विराट कोहली पुरी तरह बदल गये, और राजकुमार ने कहा, हर कोच की ये जिम्मेदारी होती हैं, कि वे अपने शिष्य पर नजर रखे.

यह भी पढ़े: आशीष नेहरा का टी-20 लीग को लेकर विवादास्पद बयान

उन्होंने आखिर में कहा, “विराट कोहली जब युवा था तो काफी ज्यादा आक्रमक थे, लेकिन उनमे काफी बदलाव आया हैं. अब लोग उनको काफी पसंद करते हैं, अब लोग उनको एक आदर्श के रुप में देखते हैं. जो मेरे लिए काफी गर्व की बात हैं.”

Related Topics