एबी डीविलियर्स के संन्यास के बाद अब अंततः विराट कोहली ने भी दिया भावुक संदेश

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

एबी डीविलियर्स के संन्यास के 4 दिन बाद अब विराट कोहली ने दी शुभकामनाएं लेकिन कहा कुछ ऐसा भर आयेंगी आँखे 

एबी डीविलियर्स के संन्यास के 4 दिन बाद अब विराट कोहली ने दी शुभकामनाएं लेकिन कहा कुछ ऐसा भर आयेंगी आँखे
©IPL/BCCI

दक्षिण अफ्रीका के तूफानी बल्लेबाज एबी डीविलियर्स ने 23 मई को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है जिसका मतलब अब वो अफ्रीका की राष्ट्रीय टीम में खेलते हुए कभी नजर नहीं आयेंगे। इसके बाद इनके सबसे ख़ास दोस्त विराट कोहली के मैसेज का इंतजार किसी को था और अंततः आज विराट कोहली ने भी ट्वीट करते हुए उन्हें अपने कैरियर की शुभकामनाएं दी है।

एबी डीविलियर्स के संन्यास के 4 दिन बाद अब विराट कोहली ने दी शुभकामनाएं लेकिन कहा कुछ ऐसा भर आयेंगी आँखे 1
©RSA

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा है, “आपने जो भी किया उसके लिए आपको बहुत-बहुत शुभकामनाएं हो मेरे भाई। जब आपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला तब आपकी बल्लेबाजी ने काफी कुछ बदल दिया। आगे इस अद्भुत यात्रा के लिए आप और आपके परिवार के लिए मेरी तरफ से शुभकामनाएँ।”

गौरतलब हो कि विराट कोहली और एबी डीविलियर्स पिछले कई सालों से आईपीएल में एक ही टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेलते आ रहे है और पूरी टीम में सबसे अच्छे बल्लेबाजों में से अव्वल पर है।

आईपीएल 2018 से संस्करण में भी इन्होंने जबरदस्त बल्लेबाजी का नजारा दिखाते हुए पूरे सीजन में 6 अर्धशतकों की मदद से कुल 480 रन बनाये जो इस सीजन में आरसीबी की तरफ से दूसरे सबसे ज्यादा रन है।

एबी डीविलियर्स के संन्यास के 4 दिन बाद अब विराट कोहली ने दी शुभकामनाएं लेकिन कहा कुछ ऐसा भर आयेंगी आँखे 2
©IPL/BCCI

एबी ने अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कैरियर में कुल 114 टेस्ट, 228 वनडे और 78 टी20 मैच खेले जिसमें क्रमशः 8765, 9577 और 1672 रन बनाये है लेकिन अब ये फिर से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलते हुए नजर नहीं आयेंगे। हालांकि, घरेलू क्रिकेट ये खेलते रहेंगे तो आईपीएल में तो इनका शानदार खेल देखने को मिलने वाला ही है।

विराट कोहली और एबी डीविलियर्स ने इंडियन प्रीमियर लीग के 11 वें सीजन में रॉयल चैलेंजर्स के लिए बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए कई मैचों में उपयोगी पारियां खेली लेकिन प्लेऑफ़ में जगह बनाने में नाकाम रहे और एक बार फिर से फाइनल में ट्रॉफी जीतने का सपना अधूरा रह गया है।

Related posts

Leave a Reply