/

विराट कोहली ने भारत की टीम को नहीं बल्कि इस टीम को बताया चैम्पियंस ट्रॉफी जितने वाली टीम

विराट कोहली की कप्तानी में पहली बार भारत की टीम किसी आईसीसी टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के इंग्लैंड पहुँच गयी है, जिसमे विराट की नजर जहां इस ट्रॉफी को जीतने पर होगी तो वही दूसरी और वे 2014 में इंग्लैंड में अपने खोये हुए फॉर्म को भी फिर से हासिल करना चाहेंगे, भारत की टीम ने कोहली की कप्तानी में अभी तक काफी अच्छा प्रदर्शन किया है.अनिल कुंबले को कोच पद को लेकर पहली बार बोले कप्तान कोहली

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

अब विदेश में करना है अच्छा प्रदर्शन

कोहली की कप्तानी में भारत की टीम ने अभी तक घरेलू सीरिज में अच्छा प्रदर्शन किया है, लेकिन अब उन्हें विदेशी जमीन पर भी इसी तरह के प्रदर्शन को करना होगा, जिसमे उन्हें इस नए सीजन की शुरुआत चैम्पियंस ट्रॉफी से करनी होगी, जिसमे इस बार चैम्पियंस ट्रॉफी को होस्ट करने वाली इंग्लैंड की टीम फेवरेट है, जो कि सभी लोगों का मनाना है और जब इसी प्रश्न को कोहली से पूछा गया तो उन्होंने भी यहीं जवाब दिया.

 

इंग्लैंड की टीम काफी संतुलित है

इंग्लैंड की टीम पर बात करते हुए कोहली ने कहा कि उनकी टीम इस बार काफी संतुलित है और अपनी होम कंडीशन का फायदा उठाने के कारण इंग्लैंड की टीम और अधिक खतरनाक साबित होगी, इंग्लैंड के पास इस समय नंबर 9 और 10 तक बल्लेबाजी करने वाले खिलाड़ी मौजूद है, उनकी टीम में इस समय 5 से 6 खिलाड़ी ऐसे है जो बल्ले और गेंद दोनों से टीम अच्छा प्रदर्शन कर सकते और उनकी फील्डिंग भी काफी अच्छी है.चैंपियंस ट्रॉफी से पहले सौरव गांगुली ने दिया विराट कोहली को जीत का मंत्र, अगर ऐसा किया तो जरुर मिलेंगी जीत

2015 के वर्ड कप के बाद इंग्लैंड टीम में हुआ काफी सुधार

विराट कोहली ने अपने बयान में कहा कि 2015 के वर्ड कप के बाद इंग्लैंड की टीम में काफी सुधार हुआ है, पिछली बार भारत की टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरिज खेली थी, तो उसमे तीनों ही मैच में इंग्लैंड ने 300 से अधिक का स्कोर बनाया था और उस सीरिज में भारत की टीम 2-1 से उस सीरिज को जीती थी.

 

पिछले दो तीन सालों में काफी अच्छी हो गयी है टीम

हमने जब पिछली बार इंग्लैंड के साथ भारत में वनडे सीरिज खेली तो उस समय उन्होंने काफी अच्छी फाइट दी थी, हमे हमने हमेशा इंग्लैंड को एक टेस्ट की मजबूत टीम के रूप में देखा है, लेकिन पिछले दो से तीन सालों में इंग्लैंड की टीम ने अपने वनडे टीम में काफी सुधार किया है, जिसके बाद अब वे वनडे की भी काफी अच्छी टीम दिख रही है.पाकिस्तान के खिलाफ मैच का नहीं है कोहली पर कोई दबाव, पाकिस्तान को हल्के में ही ले रहे है विराट

सभी टीमों को उनके खिलाफ खेलना काफी मुश्किल भरा होगा

कोहली ने इंग्लैंड की टीम की तारीफ करते हुए कहा, कि मुझे नहीं लगता उन्होंने पिछली बार हमारे खिलाफ 300 से कम किसी मैच में बनाएं थे और इस बार चैम्पियंस ट्रॉफी में सभी टीमों के सामने ये काफी बाड़ा चेलेंज होगा कि उनके खिलाफ खेलना और मुझे लगता है कि वे इस टूर्नामेंट में काफी आगे तक जायेंगे.

 

काफी उत्साहित हूँ एक कप्तान के रूप में अपना पहला आईसीसी टूर्नामेंट खेलने के लिए

कोहली से जब पूछा गया कि उन्हें एक कप्तान के रूप में अपने पहले आईसीसी टूर्नामेंट में खेलने पर कैसा लग रहा है तो कोहली ने कहा कि मैं काफी उत्साहित हूँ, हमने पिछली बार इस ट्रॉफी को जीता था जिसमे हमारे गेंदबाजों ने काफी अहम रोल अदा किया, इस बार तीन प्रमुख कारण है जिससे हमारी टीम काफी मजबूत है जिसमे पिछली बार से खिलाड़ी अधिक अनुभवी हो चुके है, सभी खिलाड़ी फिट है और काफी मेच्युर हो चुके है.