विराट-शास्त्री पूरे टूर्नामेंट में करते रहे ये तीन गलतियाँ, लेकिन किसी ने नहीं दिया ध्यान

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

विराट कोहली और रवि शास्त्री पूरे टूर्नामेंट में करते रहे ये तीन गलतियाँ, बीसीसीआई ने भी बंद रखी आंखे 

विराट कोहली और रवि शास्त्री पूरे टूर्नामेंट में करते रहे ये तीन गलतियाँ, बीसीसीआई ने भी बंद रखी आंखे

भारतीय टीम का विश्व कप सफर खत्म हो चूका है. भारतीय टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ 18 रन से हार का सामना करके टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा है. इस विश्व कप के दौरान विराट कोहली और रवि शास्त्री तीन गलतियाँ लगातार कर रहे थे, लेकिन क्रिकेट फैंस इस पर ज्यादा तवज्जों नहीं दे रहे थे. अंत में कोच और कप्तान की इन तीन गलतियों के कारण ही भारतीय टीम को टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा है. हम आपकों अपने इस ख़ास लेकर में उन्ही तीन गलतियों के बारे में बताने वाले हैं.

इन्फॉर्म खिलाड़ियों को कर रहे थे प्लेइंग इलेवन से बाहर

विराट कोहली और रवि शास्त्री पूरे टूर्नामेंट में करते रहे ये तीन गलतियाँ, बीसीसीआई ने भी बंद रखी आंखे 1

इस विश्व कप में कोच और कप्तान की जोड़ी इन्फॉर्म खिलाड़ियों को प्लेइंग इलेवन से बाहर कर रही थी. उन्होंने पहले केदार जाधव को प्लेइंग इलेवन से बाहर कर दिया. जिन्होंने अफगानिस्तान के खिलाफ एक मुश्किल समय पर अर्धशतक लगाया था और इसके बाद अगले मैच में इंग्लैंड के खिलाफ नाबाद 12 रन बनाये थे, लेकिन ना जाने क्यों विराट-शास्त्री ने उन्हें प्लेइंग इलेवन से बाहर कर दिया.

वहीं 4 मैच 14 विकेट लेने वाले इन्फॉर्म मोहम्मद शमी को भी प्लेइंग इलेवन से बाहर कर दिया. इन्फॉर्म खिलाड़ियों को प्लेइंग इलेवन से बाहर करना कहीं ना कहीं भारत के विश्व कप से बाहर होने का एक बड़ा कारण बना है.

धोनी को भेज रहे थे बहुत देर में

विराट कोहली

जहां एक तरफ पूरा देश एमएस धोनी को नंबर-4 पर बल्लेबाजी कराने के लिए कह रहा था. वहीं कप्तान और कोच की जोड़ी उन्हें बल्लेबाजी क्रम में जितना निचे हो सके उतना निचे भेज रही थी.

सेमीफाइनल में, तो कप्तान और कोच ने हद कर दी. धोनी को नंबर-7 पर बल्लेबाजी के लिए भेजा. धोनी से पहले ऋषभ पंत, हार्दिक पांड्या और दिनेश कार्तिक को भेज दिया, लेकिन धोनी जैसे अनुभवी खिलाड़ी पर कप्तान और कोच ने अपना भरोसा नहीं दिखाया.

फ्लॉप खिलाड़ियों पर दिखाते रहे भरोसा

विराट कोहली और रवि शास्त्री पूरे टूर्नामेंट में करते रहे ये तीन गलतियाँ, बीसीसीआई ने भी बंद रखी आंखे 2

दिनेश कार्तिक ने जहां 3 मैचों में मात्र 14 रन भारतीय टीम के लिए इस विश्व कप में बनाये. वहीं 4 मैचों में मात्र 116 रन बनाये. ये खिलाड़ी लगातार फ्लॉप हो रहे थे, लेकिन इन पर कप्तान और कोच का भरोसा बना हुआ था. इन खिलाड़ियों के चलते केदार जाधव और रविन्द्र जडेजा जैसे खिलाड़ियों को प्लेइंग इलेवन में खेलने के मौके नहीं मिल पा रहे थे.

Related posts