पावर कट की वजह से मिली चेन्नई सुपर किंग्स को करारी शिकस्त! वीरेंद्र सहवाग ने उठाए BCCI पर गंभीर सवाल
पावर कट की वजह से मिली चेन्नई सुपर किंग्स को करारी शिकस्त! वीरेंद्र सहवाग ने उठाए BCCI पर गंभीर सवाल

आईपीएल में गुरूवार को रोहित शर्मा की अगुवाई वाली मुंबई इंडियंस ने एमएस धोनी की अगुवाई वाली चेन्नई सुपर किंग्स को 5 विकेट से मात दी. हालांकि इस मैच में एक घटना ने खूब सुर्खियां बटोरी, जिसके चलते अब बीसीसीआई को कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. दरअसल वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में जब चेन्नई बल्लेबाजी के लिए उतरी, तो शरुआती कुछ गेंदों के लिए डीआरएस उपलब्ध नहीं था, जिसकी वजह ये थी कि स्टेडियम में पावर कट हो गया था. इस दौरान चेन्नई के 5 बल्लेबाज़ पवेलियन लौट गए और किसी के भी पास डीआरएस इस्तेमाल करने का मौका नहीं था.

डेवन कॉनवे बने पावर कट का शिकार

Devon Conway LBW
Devon Conway LBW

पावर कट के चलते पहली 10 गेंदों के लिए डीआरएस उपलब्ध नहीं था और इसी बीच चेन्नई के सलामी बल्लेबाज़ डेवन कॉनवे को एलबीडबल्यू आउट करार दिया गया. इस गेंद का रीप्ले देखने के बाद साफ़ पता चलता है कि गेंद लेग स्टंप के बाहर चली जाएगी, लेकिन डीआरएस का विकल्प नहीं होने की वजह से बल्लेबाज़ को निराश हो कर पवेलियन लौटना पड़ा. इस पूरे मामले पर निराशा जताते हुए पूर्व भारतीय बल्लेबाज़ वीरेंद्र सहवाग ने क्रिकबज पर बात करते हुए कहा कि,

“ये बड़ी हैरानी की बात है कि पावर कट की वजह से DRS का इस्तेमाल नहीं हुआ. इतनी बड़ी लीग है और उसमें जेनरेटर का इस्तेमाल किया जा सकता है.”

सहवाग ने बीसीसीआई पर उठाए सवाल

वीरेंद्र सहवाग
वीरेंद्र सहवाग

पूर्व बल्लेबाज़ ने आगे कहा कि,

“जेनरेटर के जरिए उस सॉफ्टवेयर या मशीन को चलाया जा सकता है, जिसे DRS के लिए इस्तेमाल किया जाता है. ये बड़ा सवाल है बीसीसीआई के लिए भी, क्योंकि पावर कट होता है तो क्या सिर्फ लाइट्स के लिए जेनरेटर है, ब्रॉडकास्टर्स के लिए जेनरेटर नहीं है. मुझे भी अचंभा लगा कि अगर मैच हो रहा है तो DRS का इस्तेमाल होना चाहिए. या फिर ये नियम बना दिया जाना चाहिए था कि अगर मैच शुरू हो गया है तो पूरे मैच में DRS नहीं होगा. चाहे फिर पावर कट सही हो जाए या नहीं, क्योंकि ये डिसएडवांटेज चेन्नई के लिए हो गया. अगर मुंबई बल्लेबाजी कर रही होती तो उनके लिए भी डिसएडवांटेज होता.”