वीरू, गवास्कर और शोले……….

sagar mhatre / 10 July 2016

पूर्व भारतीय विस्फोटक बल्लेबाज विरेंद्र सहवाग ने आज पुर्व महान भारतीय बल्लेबाज सुनिल गावस्कर को उनके 67वे जन्मदिन पर बधाई दी हैं.

गावस्कर महान बल्लेबाज थे, और उनकी तकनीक काफी शानदार थी. गावस्कर ऐसे बल्लेबाज थे जिन्होंने अपने पुरे करियर में हेलमेट नहीं पहना, और वेस्टइंडीज के महान तेज गेंदबाजों का सामना शानदार तरह से किया.

वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाजों के खिलाफ गावस्कर ने कमाल का प्रदर्शन किया हैं, और 27 टेस्ट में वेस्टइंडीज के खिलाफ उनकी औसत 65 की थी, और उनके नाम 13 शतक थे.

गावस्कर को एक भी गेंद छाती और सीने पर नहीं लगा, और ये सिर्फ उनके तकनीक की वजह से हुआ.

गावस्कर पहले ऐसे बल्लेबाज थे, जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 10 हजार रन बनाए और 34 शतक लगाए.

गावस्कर की बदौलत भारत ने वेस्टइंडीज को 1971 में टेस्ट सीरीज में मात दी थी, और 1983 विश्वकप भी जब भारत ने जीता, तब गावस्कर भारतीय टीम का हिस्सा थे.

सहवाग भी एक शानदार टेस्ट बल्लेबाज थे, और उनके नाम टेस्ट क्रिकेट में 2 तिहरे शतक हैं.

सहवाग ने टेस्ट क्रिकेट में 49 की औसत से रन बनाए हैं.

सहवाग ने आज गावस्कर की तुलना फिल्म शोले से किया, जैसे शोले फिल्म सबसे बड़ी हिट फिल्म थी, वैसे ही गावस्कर भी सबसे बेहतर क्रिकेटर हैं.

सहवाग ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, “गावस्कर ने ये कमाल बिना हेलमेट के किया, और अगर हम उनकी तुलना किसी फिल्म से करते हैं, तो वे शोले हैं.”