भारत अपने घर में अक्टूबर 2015 के बाद से कोई भी वनडे सीरीज नहीं हारा है।

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

विशाखापट्टनम वनडे : कप्तान के तौर पर इतिहास रचने से बस 1 दिन दूर खड़े है रोहित शर्मा 

विशाखापट्टनम वनडे : कप्तान के तौर पर इतिहास रचने से बस 1 दिन दूर खड़े है रोहित शर्मा

विशाखापट्टनम, 16 दिसम्बर; पिछले मैच में बल्ले से आग उगलने वाले रोहित शर्मा रविवार को तीसरे वनडे मैच में श्रीलंका के खिलाफ उतरेंगे तो उनकी नजरों में कप्तान के तौर पर पहली सीरीज जीतने पर होंगी। धर्मशाला में खेले गए मैच में श्रीलंका ने भारत को मात दी थी, लेकिन मोहाली में खेले गए दूसरे वनडे मैच में रोहित के तीसरे दोहरे शतक के दम पर भारत ने मेहमानों को पटखनी देते हुए सीरीज 1-1 से बराबर कर ली थी।

विशाखापट्टनम वनडे : कप्तान के तौर पर इतिहास रचने से बस 1 दिन दूर खड़े है रोहित शर्मा 1

अब यहां वाई.एस.राजशेखर रेड्डी एसीए-वीडीसीए क्रिकेट स्टेडियम में होने वाला यह सीरीज का तीसरा और निर्णायक मैच दोनों टीमों के लिए बेहद अहम है।

भारत अपने घर में अक्टूबर 2015 के बाद से कोई भी वनडे सीरीज नहीं हारा है। ऐसे में वह अपने इसी विजयी क्रम को जारी रखना चाहेगा।

इस मैदान पर उसका रिकार्ड भी अच्छा रहा है। भारत ने यहां सात मैच खेले हैं तो एक में जीत हासिल की है। श्रीलंका को उसे हराने के लिए अपनी शीर्ष फॉर्म का प्रदर्शन करना होगा।

वनडे रैंकिंग में पहले स्थान पर काबिज भारत रोहित की आगुआई में उतरेगी। उसकी बल्लेबाजी का दारोमदार भी रोहित के कंधों पर होगा। पहले मैच में नाजुक स्थिति में अर्धशतक जड़ने वाले महेंद्र सिंह धौनी पर भी बड़ी जिम्मेदारी होगी।

इस मैदान का धौनी के साथ खासा नाता है। धौनी ने अपने वनडे करियर का पहला शतक इसी मैदान पर 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ लगाया था। धौनी ने उस मैच में 148 रनों की पारी खेली थी।

पिछले मैच में शिखर धवन ने भी बल्ले से बेहतरीन योगदान दिया था। वहीं अपने करियर का दूसरा मैज खेलने वाले युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर ने भी 88 रनों की पारी खेल अपनी प्रतिभा का परिचय दिया था।

दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे को पहले मैच में ही बल्लेबाजी का मौका मिला था। यह दोनों भी अपने बल्ले की जंग को दूर करना चाहेंगे।

गेंदबाजी में भारत भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह के ऊपर निर्भर रहेगी। वहीं स्पिन में युजवेंद्र चहल के ऊपर जिम्मेदारी होगी। रोहित, कुलदीप यादव और वॉशिंगटन सुंदर में से किसे टीम में जगह देते हैं यह देखना होगा।

वहीं श्रीलंका के कप्तान थिसारा परेरा अपनी रणनीति पर दोबारा विचार करेंगे। उनके पास सीरीज जीतने का मौका भी है जिसे वह किसी भी कीमत पर गंवाना नहीं चाहेंगे।

टीम को जीत की राह पर ले जाने के अलावा परेरा पर गेंदबाजी आक्रमण की बागडोर भी होगी। इसमें एंजेलो मैथ्यूज, सुरंगा लकमल और अकिला धनंजय उनका साथ देंगें। लेकिन पेररा के लिए दिक्कत की बात यह है कि पहले मैच में गेंदबाजी के मुफीद विकेट मिलने पर तो उनके गेंदबाजों ने कहर ढा दिया था लेकिन दूसरे मैच में वह एकदम राह से भटक गए थे।

बल्लेबाजी में मैथ्यूज और निरोशन डिकवेला पर श्रीलंकाई पारी की जिम्मेदारी होगी।

टीमें :

भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), दिनेश कार्तिक, महेंद्र सिंह धौनी (विकेटकीपर) , शिखर धवन, भुवनेश्वर कुमार, मनीष पांडे, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, श्रेयस अय्यर, हार्दिक पांड्या, वॉशिंगटन सुंदर, अजिंक्य रहाणे, सिद्धार्थ कौल, कुलदीप यादव, अक्षर पटेल। 

श्रीलंका: थिसारा परेरा (कप्तान), उपुल थंरगा, एंजेलो मैथ्यूज, सुंरगा लकमल, लाहिरू थिरिमाने, नुवान प्रदीप, निरोशन डिकवेला (विकेटकीपर), दानुष्का गुणाथिलका, सचिथा पाथिराना, अकिला धनंजय, असेला गुणारत्ने, धनंज डी सिल्वा, कुशल परेरा, दुशमंथा चामिरा, चाटुरंगा डी सिल्वा, सादिरा सामाराविक्रमा। 

Related posts

Leave a Reply