चेतेश्वर पुजारा ने आखिरकार दिया रिद्धिमान साहा के साथ हुई साझेदारी पर अपनी प्रतिक्रिया | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

चेतेश्वर पुजारा ने आखिरकार दिया रिद्धिमान साहा के साथ हुई साझेदारी पर अपनी प्रतिक्रिया 

चेतेश्वर पुजारा ने आखिरकार दिया रिद्धिमान साहा के साथ हुई साझेदारी पर अपनी प्रतिक्रिया

रणजी ट्रॉफी का फाइनल जीतने के बाद गुजरात की टीम को हर बार की तरह शेष भारत की टीम से मैच खेलना था. इस बार शेष भारत की टीम की कमान भारतीय टेस्ट टीम के बल्लेबाज़ चेतेश्वर पुजारा के हाथों में थी. शेष भारत और रणजी जीतने वाली टीम के बीच खेले गए इस एकलौते टेस्ट का नाम ईरानी कप था. रणजी ट्राफी जीतने पर वीरेंद्र सहवाग ने उड़ाया कप्तान पार्थिव पटेल का मजाक

इस एकलौते टेस्ट मैच में गुजरात की टीम ने पहले टॉस जीतकर बल्लेबाज़ी का फैसला लिया और शुरू में लड़खड़ाने के बाद अंत में गुजरात की टीम ने बहुत अच्छी बल्लेबाज़ी की और पहली इनिंग का स्कोर 358 रखा. उसके बाद बल्लेबाज़ी करने आई शेष भारत की टीम 226 रन पर ऑल आउट हो गयी.

उसके बाद फिर से बल्लेबाज़ी करने आई गुजरात की टीम ने 246 रन बनाकर शेष भारत की टीम को 379 रनों का लक्ष्य दिया. इस लक्ष्य का पीछा करने आई शेष भारत की टीम की शुरुआत फिर से अच्छी नहीं हुयी, लेकिन बाद में कप्तान पुजारा और कीपर रिद्धिमान सहा की ऐतिहासिक साझेदारी से शेष भारत ने इस मैच को अपने नाम कर लिया.

मैच में जीत पाने के बाद कप्तान पुजारा ने कहा, “यह एक बहुत अच्छा खेल रहा, गुजरात ने बहुत अच्छा खेला. हमारी टीम हमेशा ही गुजरात से नीचे रही, लेकिन अंत में जो कुछ हुआ वह खेल का एक पार्ट है.” न्यूट्रल मैदानों पर रणजी ट्राफी खेले जाने से खफा है राजस्थान के दिग्गज ऑल राउंडर रजत भाटिया

उसके बाद पुजारा ने साहा के साथ हुयी अपनी साझेदारी पर कहा, “जब वह बल्लेबाज़ी करने आये थे, तब हमारी टीम गुजरात से बहुत नीचे थी. हमें 379 रन बनाने थे और 63 पर ही 4 विकेट हो गए थे. उसके बाद जब वह बल्लेबाज़ी करने आये तो उन्होंने मुझसे कहा, कि ‘मैं अक्रामक खेल खेलूँगा’. तभी मैंने उनसे कहा कि ठीक है एक तरफ से तुम खेलो दूसरी तरफ से मैं विकेट बचा कर खेलूँगा, ताकि इस तरह के खेल से गुजरात के गेंदबाजों की लय बिगड़ जाये और हमारी सोच के मुताबिक यही हुआ. साहा अपना तेज़ी से खेलते रहे और कुछ समय में ही गुजरात के गेंदबाज़ अपनी लय खो बैठे, जिसकी वजह से मैंने और सहा ने मिलकर 316 रनों की बेहतरीन साझेदारी की और टीम को जीत दिलाई. “

Related posts