क्या आपको पता है यह खिलाड़ी रणजी ट्रॉफी 2017 में बिना फीस लिए ही खेला

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

2017 में बिना फीस लिए ही इस खिलाड़ी ने खेला रणजी और बनाया अपनी टीम को चैम्पियन, बाद में बोल गया यह बड़ी बात 

2017 में बिना फीस लिए ही इस खिलाड़ी ने खेला रणजी और बनाया अपनी टीम को चैम्पियन, बाद में बोल गया यह बड़ी बात

रणजी ट्रॉफी 2017-18 की समाप्ति हो चुकी है जिसमें रणजी के इतिहास में 7 बार की विजेता टीम दिल्ली क्रिकेट टीम को विदर्भ क्रिकेट टीम से हार का सामना करना पड़ा, जिसमें विदर्भ क्रिकेट टीम के दिग्गज वसीम जाफर विदर्भ से बिना फीस लिए ही खेले है। जी हाँ, वसीम जाफर जो कभी टीम इंडिया के लिए भी खेला करते थे, इन्होंने रणजी ट्रॉफी के इस बीते पिछले सीजन में अपनी टीम विदर्भ से बिना फीस लिए ही क्रिकेट खेला है और इन्होंने ही इस रणजी फ़ाइनल का विजयी शॉट लगाया।

2017 में बिना फीस लिए ही इस खिलाड़ी ने खेला रणजी और बनाया अपनी टीम को चैम्पियन, बाद में बोल गया यह बड़ी बात 1

2017 में बिना फीस लिए ही इस खिलाड़ी ने खेला रणजी और बनाया अपनी टीम को चैम्पियन, बाद में बोल गया यह बड़ी बात 2

इसी बीच आपको बता दें कि इन्होंने रणजी ट्रॉफी के फाइनल के बाद एक साक्षात्कार दिया था और हिंदुस्तान टाइम्स से हालिया साक्षात्कार में, जाफर ने कहा, “मेरे पास पिछले सत्र (2016-17) के साथ एक अनुबंध था, जहां मुझे तीन किश्तों में भुगतान करना था – अक्टूबर, जनवरी और मार्च वे चाहते थे, कि मैं अपनी रणजी ट्रॉफी अभियान में एक हिस्सा रहूँ और उनके लिए खेलूं। लेकिन चोट के कारण ऐसा नहीं हुआ, लेकिन मुझे भुगतान करने के लिए कभी भी झिझक नहीं हुई।”

उन्होंने खुलासा किया कि विदर्भ ने उन्हें अक्टूबर के लिए भुगतान नहीं किया, क्योंकि वह चोटिल हो गये थे। लेकिन जाफर ने कहा कि “मैं जनवरी महीने में खेलने के लिए पूरी तरह से ठीक हो गया था, परंतु उन्होंने मुझे खेलने के लिए नहीं बोला था। हालांकि उन्होंने मेरे कॉन्ट्रैक्ट साइन के पैसे दिए और मैं उनके इस अहसान को वापस लौटाना चाहता था, इसी कारण मैंने निर्णय लिया कि मैं इस बार विदर्भ क्रिकेट टीम के लिए बिना फीस लिए ही खेलूंगा और मेरे लिए यह बहुत अच्छा रहा हैं।”

इसी बीच वसीम जाफर ने आगे कहा कि मैं ऐसी टीम में खेलना चाहता था, जहाँ मुझे खेलने में मौका मिले और मैं चाहता था कि नए खिलाड़ियों को गाइड भी करूँगा।

Related posts

Leave a Reply