भारतीय टीम में फेब-4 की कमी दूर कर सकते है यह खिलाड़ी : संजय बांगर | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारतीय टीम में फेब-4 की कमी दूर कर सकते है यह खिलाड़ी : संजय बांगर 

भारतीय टीम में फेब-4 की कमी दूर कर सकते है यह खिलाड़ी : संजय बांगर

टीम इंडिया के बैटिंग कोच, संजय बांगर ने कहा कि मौजूदा समय की भारतीय टेस्ट टीम का बल्लेबाज़ी क्रम सचिन, द्रविड़, गांगुली और लक्ष्मण के फेब-4 की जगह धवन, विजय, कोहली, पुजारा और रहाणे जैसे खिलाड़ी ले सकते है.

बांगर का कहना था कि

“राहुल ने बाकी खिलाड़ियों के बीच अपने अच्छे प्रदर्शन से एक होड़ लगा दी है, राहुल को जब भी बल्लेबाज़ी का मौका मिला उन्होंने उसका बखूबी फायदा उठाया. चाहे वो टेस्ट मैचों में सिडनी, कोलंबो और जमैका में उनके शतक हो या फिर एकदिवसीय मैच और ट्वेंटी ट्वेंटी में अपने पहले ही मैच में शतकीय पारियां.”

बांगर ने टाइम्स ऑफ़ डिया से बातचीत के दौरान बताया.

यह भी पढ़े : भारतीय टीम न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में रचेगी इतिहास

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने 22 साल बाद श्रीलंका में सीरीज़ जीती और वेस्टइंडीज़ के खिलाफ भी 2-0 से वेस्टइंडीज़ में सीरीज़ जीती. मौजूदा समय के भारतीय बल्लेबाज़ आगे चलकर अच्छा प्रदर्शन करेंगे ऐसा सभी उमिर कर रहे है.

मौजूदा समय के बल्लेबाज़ आगे जा कर भारतीय टीम का भविष्य है, और इन खिलाड़ियों को ही अभी लम्बे समय तक भारतीय टीम की बल्लेबाज़ी का भर संभालना है. बांगर ने कहा अगर यह खिलाड़ी ऐसे ही अच्छा प्रदर्शन करते रहे तो साल 2000 में राहुल द्रविड़, सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण की चौकड़ी का कमल दोहरा सकती है. इन खिलाड़ियों में बेहद क्षमता है.

बांगर ने कहा कि आने वाले समय में टीम को 13 टेस्ट मैच खेलने है, और इससे बेहतर और कुछ नहीं हो सकता टेस्ट मैच में नंबर 1 की रैंकिंग हासिल करने के लिए.

यह भी पढ़े : विडियो : 194 पर मुल्तान में पारी घोषित करने पर सचिन ने द्रविड़ से कहा..

“टीम नें पिछले दो सालों में बहुत प्रगति की है. हम किसी समय नंबर 6-7 पर थे टेस्ट मैचों की रैंकिंग के अनुसार लेकिन अभी आप देख सकते है, बारिश के कारण टीम दुसरे पायदान पर खिसक गयी, यदि बारिश ने खेल ना ख़राब किया होता तो इस समय हम विश्व में नंबर एक टीम होते. एक मैच में बारिश के चलते खेल नहीं हो सका उसके बाद भी हमने कम समय में मैच जीत कर यह दिखाया था कि इस टीम में जीतने की भूक कितनी है.”

Related posts