भारतीय टीम तीन सलामी बल्लेबाज के साथ खेल रही लेकिन मनीष पांडे को नहीं मिल रहा मौका, क्या है उनका भविष्य?

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

क्या अंत की ओर है मनीष पाण्डेय का भविष्य? 3 सलामी बल्लेबाजों के साथ खेल रहे हैं कप्तान विराट कोहली 

क्या अंत की ओर है मनीष पाण्डेय का भविष्य? 3 सलामी बल्लेबाजों के साथ खेल रहे हैं कप्तान विराट कोहली

भारतीय टीम के बल्लेबाज मनीष पांडे विश्व कप के बाद से वनडे और टी-20 टीम का हिस्सा बने हुए हैं। इंडिया ए के साथ ही घरेलू मैचों में शानदार बल्लेबाजी कर उन्होंने भारतीय टीम में वापसी की थी। इसके बाद भी उन्हें अभी तक एक भी वनडे मैच खेलने का मौका नहीं मिला है। विश्व कप के बाद से भारत ने 7 वनडे मैच खेल लिए हैं।

तीन सलामी बल्लेबाज खेले

क्या अंत की ओर है मनीष पाण्डेय का भविष्य? 3 सलामी बल्लेबाजों के साथ खेल रहे हैं कप्तान विराट कोहली 1

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मुंबई वनडे में केएल राहुल के नंबर 3 पर खेलने का मौका मिला। केदार जाधव के खराब प्रदर्शन के बाद उम्मीद की जा रही थी कि मनीष पांडे को यहां खेलने का मौका मिल सकता है।

टीम मैनेजमेंट ने केएल राहुल को जाधव की जगह टीम में शामिल कर लिया गया। वह विराट कोहली ने ऊपर नंबर 3 पर बल्लेबाजी करने आए। इससे टीम का बल्लेबाजी क्रम पूरी तरह बदलना पड़ा गया।

मनीष पांडे का क्या?

क्या अंत की ओर है मनीष पाण्डेय का भविष्य? 3 सलामी बल्लेबाजों के साथ खेल रहे हैं कप्तान विराट कोहली 2

मनीष पांडे टीम में है लेकिन प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका नहीं मिल रहा है। ऐसे में उनके करियर पर सवाल बना हुआ है। टी-20 में भी विश्व कप के बाद उन्हें गिने चुने मैचों में खेलने का मौका मिला है।

उनकी गिनती दुनिया के सबसे बेहतरीन फील्डरों में की जाती है। इसके साथ ही मध्यक्रम के शानदार बल्लेबाज भी हैं। 2016 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर वनडे सीरीज के अंतिम मैच में शतक बनाकर टीम को जीत दिलाई थी।

कैसा रहा करियर?

क्या अंत की ओर है मनीष पाण्डेय का भविष्य? 3 सलामी बल्लेबाजों के साथ खेल रहे हैं कप्तान विराट कोहली 3

मनीष पांडे ने भारत के लिए पहला वनडे मैच 2015 में खेला था। उसके बाद से उन्हें सिर्फ 23 मैचों में ही खेलने का मौका मिला है। इन मैचों की 18 पारियों में उन्होंने 36.67 की औसत और 91.86 की स्ट्राइक रेट से 440 रन बनाए हैं।

खिलाड़ी को लगातार मौके मिलने के बाद ही अपनी प्रतिभा दिखा सकता है। उन्हें 5 साल में सिर्फ 23 मैच खेलने का मौका मिला है और इसी वजह से टीम में जगह पक्की नहीं कर पाए हैं। 148 लिस्ट ए पारियों में उनके नाम 45.89 की औसत और 93.55 की स्ट्राइक रेट से 5324 रन बनाए हैं।

Related posts