क्रिकेट का जूनुन भारत देश में सिर चढ़कर बोलता है, भारत में इसे एक धर्म की तरह पूजा जाता है। क्रिकेट की प्रसिद्धि के साथ सट्टेबाजों का कारोबार भी बढता जा रहा है जो भारत मेंं पूरी तरह से गैरकानूनी है। कई कड़े कानून के बावजूद इसका विस्तार होता जा रहा है, जिससे भारत में सट्टेबाजी का कारोबार दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। अगर यह भारत में  कानूनी रूप से लागू हो जाये तब भारत सरकार के राजस्व में जबरदस्त वृद्धि हो सकती है पर इससे कई नुकसान भी होगें जिसमें मैच फिक्सिगं को भी बढ़ावा मिलेगा।भारत और पाकिस्तान के बीच खेले जाने वाले चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल पर सट्टेबाजी का साया, तय है रिजल्ट

 

लोढ़ा पैनल ने सिफारिश किया सट्टेबाजी को कानूनी दर्जा देने का 

आपको बता दें 2013 में आईपीएल में हुई  स्पॉट फिक्सिंग के लिए गठित लोढ़ा पैनल ने सट्टेबाजी को कानूनी रूप से मान्यता देने की सिफारिश की जिसे सुनकर कई लोग अंचभित हो गये। लोढ़ा कमेटि ने अपनी कई सिफारिशों में से सबसे महत्वपूर्ण सिफारिश सट्टेबाजी को मान्यता देनेे के लिए कही।  कमेटी का कहना था कि  भारत जैसे देश में सट्टेबाजी को पूरी तरह से खत्म करना असंभव है जिसे लागू करना ही सरकार के लिए बेहतर होगा.

सरकार को होगा राजस्व का जबरदस्त फायदा

सट्टेबाजी को कानूनी रूप से लागू करने से सरकार को जबरदस्त फायदा मिलेगा, क्योंकि सट्टेबाजी का सारा पैसा गैरकानूनी रूप से ब्लैक मनी के रुप में चला जाता है, जिसे कानूनी रूप से मान्यता मिलने पर सारा पैसा राजस्व में जाने से देश के विकास में काम अायेगा।

सट्टेबाजी से बढ़ेगी मैच फिक्सिगं!

 

कानूनी रूप से सट्टेबाजी को लागू कर देने से कई तरह के नुकसान भी सामने आने  लगेगे जिसमें सबसे ज्यादा मैच फिक्सिंग का डर बना रहेगा। आमतौर पर बड़ी जीत के लिए लोग सट्टेबाजी में ज्यादा पैसे लगायेगें जिसे जीतने के लिए मैच फिक्सिंग का ब़ढावा मिलेगा।शर्मनाक : फिक्स था चैंपियंस ट्रॉफी भारत-पाकिस्तान फाइनल, इस खिलाड़ी ने किया चौकाने वाला खुलासा इसके अलावा सबसे ज्यादा प्रभाव दर्शकों पर पड़ेगा, जो इस खेल को झूठा समझने लगेगें जिससे दर्शकों की संख्या में गिरावट आने लगेगी।

कुछ देशों में मिली है सट्टेबाजी को कानूनी मान्यता

सट्टेबाजी को लेकर कुछ देशों ने अपने राजस्व को बढ़ाने के लिए कानूनी रूप से मान्यता दे रखे है जिनमें ब्रिटेन, ऑस्ट्रलिया जैसे महत्वपूर्ण देश हैं। इन देशों में इससे काफी ज्यादा राजस्व प्राप्त किया जाता है, जो कि भारी मात्रा में सट्टेबाजी पर टैक्स लगाने से प्राप्त होता है। 

 

Related Articles

स्पेनिश लीग : रेमी की बदौलत गेटाफे ने वालेंसिया को दी मात

वालेंसिया (स्पेन), 19 अप्रैल; लोइक रेमी की ओर से दागे गए दो गोल के दम पर गेटाफे ने स्पेनिश लीग में खेले गए एक मैच...

टेनिस : सीलिक मोंटे कार्लो मास्टर्स के तीसरे दौर में

मोनाको (फ्रांस), 19 अप्रैल; क्रोएशिया के टेनिस खिलाड़ी मारिन सिलिक ने अच्छा प्रदर्शन जारी रखते हुए मोंटे कार्लो मास्टर्स के तीसरे दौर में प्रवेश कर...

लेंगर से बेहतर कोच साबित होंगे गिलेस्पी : चैपल

सिडनी, 19 अप्रैल; आस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान इयान चैपल का कहना है कि जस्टिन लेंगर की तुलना में जेसन गिलेस्पी आस्ट्रेलिया टीम के...

OMG! चेन्नई सुपर किंग्स के फैंस की दीवानगी देखकर हैरान रह जायेगे आप, ट्रैन...

हाल ही में चेन्नई सुपर किंग्स के घरेलू मैदान में होने वाले मैचों पर बैन लगा दिया गया था इसके बाद सभी मैचों को...

बुरी खबर : WWE के सबसे ज्यादा दिनों तक चैंपियन रहने वाले इस दिग्गज...

WWE हॉल ऑफ फेमर और प्रोफेशनल रैसलिंग लैजेंड ब्रूनो सैमार्टिनो का बुधवार को निधन हो गया। वे 82 साल के थे। WWE ने अपने...