जब धोनी मेट साक्षी: एक SMS में ही धड़के दिल

भारतीय कप्तान धोनी और साक्षी की शादी का किस्सा बेहद ही संजीदा है. ये दोनों एक दुसरे को अपने स्कूली दिनों से जानते थे. इनके पेरेंट्स एक दुसरे पारिवारिक दोस्त हुआ करते थे. दोनों ने डीएवी श्यामली कॉलेज रांची में पढाई भी साथ में की थी. लेकिन बाद में साक्षी अपने पेरेंट्स के साथ देहरादून वापस चली गयीं और वहां वह उन्होंने होटल मैनेजमेंट का कोर्स किया.

धोनी का जन्म भले ही रांची में हुआ, लेकिन उनका पैतृक गांव लवाली उत्तराखंड के अलमोड़ा जिले में है. धोनी के पिता पान सिंह अपने परिवार को लेकर रांची शिफ्ट हो गए थे और मेकोन कंपनी के जूनियर मैनेजमेंट वर्ग में काम करने लगे.

टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तान माने जाने वाले धोनी की लव स्टोरी बड़ी ही मजेदार है. धोनी और साक्षी की मुलाकात  कोलकाता में हुई थी. धोनी वहां भारत और पाकिस्तान के बीच टेस्ट मैच में हिस्सा लेने के लिए गए हुए थे. उस समय साक्षी रावत कोलकाता के ताज होटल में इंटर्नशिप कर रही थीं, और धोनी टीम के साथ उस होटल में ठहरे हुए थे. साक्षी ने होटल मैनेजमेंट का कोर्स किया है. बस नजरें मिलते ही साक्षी धोनी के दिल में बस गईं.


दोनों ने एक-दूसरे के फोन नंबर लिए और बातचीत का सिलसिला शुरू हो गया. इस बीच धोनी के बॉलीवुड की एक अभिनेत्री से संबंधों के चर्चे भी हुए, लेकिन धोनी की लव स्टोरी पर इसका कोई असर नहीं पड़ा. 4 जुलाई 2010 देहरादून के निकट एक रिसॉर्ट में एक निजी समारोह में धोनी ने अपनी मंगेतर साक्षी रावत के साथ शादी रचाई. शादी से एक दिन पहले ही साक्षी और धोनी की सगाई हुई थी.

इस अचानक और गुपचुप शादी में स्पिनर हरभजन, आशीष नेहरा, रूद्र प्रताप सिंह, सुरेश रैना और रोहित शर्मा के अलावा बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष शशांक मनोहर और बीसीसीआई के तत्कालीन अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन भी शरीक हुए थे.
धोनी और साक्षी रांची के डीएवी श्यामली स्कूल के मित्र हैं. दोनों के पिता एक ही कंपनी में काम किया करते थे. साक्षी का परिवार उनके पिता के रिटायरमेंट के बाद देहरादून चला गया था. जबकि धोनी का परिवार रांची में बस गया.
भारतीय क्रिकेट के इतिहास में धोनी को सबसे सफल कप्तान माना जाता है. इंटरनेशनल क्रिकेट में आने के महज पांचवें वनडे मुकाबले में ही 123 गेंदों में 148 रनों की तूफानी पारी खेलकर अपनी मौजूदगी दर्ज करा दी. उसके बाद से अब तक धोनी ने अपनी सफलता के कई झंडे गाड़े. जिसमें दो वर्ल्ड कप खिताब (टी-20 वर्ल्ड कप-2007 और वनडे वर्ल्ड कप-2011) भी शामिल है.

Related Topics