वह मौका जब पहली बार भारतीय टीम ने इंग्लैंड को इंग्लैंड में मात देकर टेस्ट सीरीज पर किया था कब्ज़ा

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

ENG vs IND: 1971 में जब भारत ने अंग्रेजो को उन्ही के घर में हराकर पहली बार जीता था टेस्ट सीरीज 

ENG vs IND: 1971 में जब भारत ने अंग्रेजो को उन्ही के घर में हराकर पहली बार जीता था टेस्ट सीरीज

एक अगस्त से इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने जा रही टीम इंडिया से सीरीज जीतने की उम्मीद की जा रही है. मौजूदा समय में टीम की बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही मजबूत नजर आ रही है.

विराट कोहली के नेतृत्व में टीम पूरी तरह आत्मविश्वास से भी भरी हुई है, लेकिन इससे पहले 1971 में भारतीय टीम ने इतिहास रचते हुए इंग्लैंड को उसी की धरती पर हराकर एक मजबूत टीम का दावा पेश किया था.

वो ऐतिहासिक दौरा 

ENG vs IND: 1971 में जब भारत ने अंग्रेजो को उन्ही के घर में हराकर पहली बार जीता था टेस्ट सीरीज 1

1968 में मंसूर अली पटौदी की कप्तानी में भारत ने पहली बार विदेश में न्यूज़ीलैंड को 3-1 से हराकर सीरीज पर कब्ज़ा किया था. इसके बाद भारत ने वेस्टइंडीज जैसी टीम को उसी के मैदान पर हराकर मजबूत टीम के रूप में उभर कर सामने आयी. इसके बाद 1971 में टीम इंडिया ने अजीत वाडेकर की कप्तानी में इंग्लैंड का दौरा किया.

सीरीज का पहला मैच लॉर्ड्स के मैदान पर खेला गया. जिसका कोई नतीजा नही निकला और मैच ड्रा रहा. इसके बाद दूसरा मैच मैंचेस्टर में हुआ. ये मैच भी बेनतीजा ही रहा. अब अंतिम मैच ही बचा था. जिसे जीत कर भारत के पास पहली बार इतिहास रचने का मौका था.

तीसरे मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी का निर्णय लिया. इंग्लैंड ने जबरदस्त बल्लेबाजी करते हुए 355 रनों का स्कोर पहली पारी में बनाया. इसके बाद पहले बल्लेबाजी के लिए उतरी भारतीय टीम 284 रन ही बना पायी और इंग्लैंड को इससे 71 रनों की बढ़त मिल गयी.

ENG vs IND: 1971 में जब भारत ने अंग्रेजो को उन्ही के घर में हराकर पहली बार जीता था टेस्ट सीरीज 2

हार की ओर बढ़ रही भारतीय टीम के लिए स्पिनर गेंदबाजों ने जीत के दरबाजे खोले. कप्तान अजीत वाडेकर ने स्पिन गेंदबाजी को आक्रमण पर लगाया. लेग  स्पिनर गेंदबाज भगवत चंद्रशेखर न इंग्लैंड के बल्लेबाजों को अपनी फिरकी में ऐसा फंसाया कि उनका पूरा बल्लेबाजी क्रम धराशायी हो गया. चंद्रशेखर ने अपनी खतरनाक गेंदबाजी से 6 विकेट चटकाए. इंग्लैंड की पूरी टीम सिर्फ 101 रनों पर ही ऑल आउट हो गयी.

…और रच दिया इतिहास 

ENG vs IND: 1971 में जब भारत ने अंग्रेजो को उन्ही के घर में हराकर पहली बार जीता था टेस्ट सीरीज 3

अब भारत को जीत के लिए 173 रन चाहिए थे या कहें कि भारत इतिहास रचने से सिर्फ 173 रन दूर था. मगर इंग्लैंड के मैदान पर ये स्कोर बना पाना भारतीय बल्लेबाजों के लिए आसान नही था.

बल्लेबाजी के लिए उतरी भारतीय टीम की ओर से कप्तान वाडेकर की 45 रनों की पारी के साथ जब मजबूत दिख रही थी उसी समय वह रन आउट का शिकार हो गए, लेकिन इसके बाद सरदेसाई की 40 रनों की और गुंडप्पा विश्वनाथ की 33 रनों की पारी की मदद से भारत ने मैच में जीत हासिल कर इतिहास रच दिया. टीम इंडिया ने पहली बार सीरीज जीत कर झंडे को बुलंद किया.

Related posts

Leave a Reply