सौरव गांगुली पाकिस्तान कप्तान आक्रामक मोहम्मद युसूफ विराट कोहली

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

वीडियो: विराट कोहली से भी ज्यादा आक्रामक थे सौरव गांगुली अम्पायर के सामने ही विरोधी टीम के खिलाड़ियों को सिखा देते थे तमीज 

वीडियो: विराट कोहली से भी ज्यादा आक्रामक थे सौरव गांगुली अम्पायर के सामने ही विरोधी टीम के खिलाड़ियों को सिखा देते थे तमीज

आज भारतीय टीम में विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम बेहद आक्रामक क्रिकेट खेलती है. यदि कोई इस टीम को स्लेज करता है, तो यह टीम पलट कर जवाब देने में माहिर है. लेकिन एक समय ऐसा था जब भारतीय टीम सबसे ज्यादा सभ्य टीम जानी जाती थी. भले ही सामने वाली टीम स्लेजिंग कर रही हो लेकिन भारतीय खिलाड़ी चुपचाप रहते थे. लेकिन इस लीक को भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने पूरी तरह बदल दिया. उन्होंने न केवल टीम में जीत की भूख उत्पन्न की बल्कि टीम को आगे बढ़कर लड़ना भी सिखाया. इसी का नतीजा है कि सौरव गांगुली के नेतृत्व में भारतीय टीम ने 2005 में विश्वकप फाइनल तक का सफ़र तय किया. हालांकि, टीम ऑस्ट्रेलिया से बाहर हो गयी.

स्सौरव गांगुली का ऐसा ही एक विडियो इन दिनों वायरल हो रहा है, जिसमे वह पाकिस्तान के खिलाड़ी पर बरसते हुए नजर आ रहे हैं.

मैच: पाकिस्तान बनाम भारत (2005)-

वीडियो: विराट कोहली से भी ज्यादा आक्रामक थे सौरव गांगुली अम्पायर के सामने ही विरोधी टीम के खिलाड़ियों को सिखा देते थे तमीज 1

2005 में भारत और पाकिस्तान के बीच वनडे सीरीज खेला जा रहा था. उस दौरान भारतीय टीम के कप्तान सौरव गांगुली और पाकिस्तानी क्रिकेटर मोहम्मद यूसुफ के बीच मैदान पर ही किसी बात को लेकर कहा-सुनी होने लगी. दरअसल, पाकिस्तानी टीम उस समय बल्लेबाजी कर रही थी.

सुन अपना टाइम नोट कर के रखना…-

वीडियो: विराट कोहली से भी ज्यादा आक्रामक थे सौरव गांगुली अम्पायर के सामने ही विरोधी टीम के खिलाड़ियों को सिखा देते थे तमीज 2

पाकिस्तान की तरफ से बल्लेबाजी करने के लिए मोहम्मद यूसुफ क्रीज पर मौजूद थे.पाकिस्तानी टीम बल्लेबाजी करने के दौरान काफी समय ले रही थी. मोहम्मद यूसुफ ने पहले तो ड्रिंक्स के लिए टाइम ब्रेक लिया और उसके तुरंत बाद कोहनी में चोट लगने पर फिजियो को मैदान में बुला लिया.

गांगुली काफी देर तक ये नजारा देखते रहे, लेकिन जब बात उनके बर्दाशत से बाहर चली गई तो उन्होंने यूसुफ से कहा, “तुझे जितना आराम करना है कर ले. मैं तेरी बात नहीं कर रहा हूं, मैं ये नहीं कह रहा कि तू जानबूझकर कुछ कर रहा है. तू बस रेस्ट कर और अपना टाइम नोट कर ले बस मुझे कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए.”

गांगुली को भरना पड़ता हर्जाना-

दरअसल, इनिंग्स के निर्धारित टाइम ओवर में भारत को अपने पचास ओवर फेंकने थे. अगर वो टाइम ओवर से ज्यादा का समय लेती तो टीम के कप्तान यानी गांगुली को फाइन भरना पड़ जाता. यही वजह थी कि गांगुली युसूफ को मैदान पर यह बात समझाने लगे। 8 मार्च से 17 अप्रेल तक पाकिस्तान की टीम टेस्ट और वनडे सीरीज खेलने भारत आई थी. जहां टेस्ट सीरीज ड्रॉ रहा तो वनडे में पाकिस्तान को जीत मिली.

Related posts

Leave a Reply