कुछ ऐसी ही घटनाएं जब साबित हुआ, विराट कोहली है मैदान में भी दरियादिल

Pravanshu / 14 June 2016

अक्सर विराट कोहली को मैदान में अपने आक्रामक व्यव्हार के लिए जाना जाता है। लेकिन विराट ने कई बार मैदान में यह साबित किया है, कि वे सिर्फ मैदान के बहार ही नहीं मैदान के अंदर भी अपनी दरियादिली को लेकर जाने जाते है। आगे की स्लाइड्स में देखिये कुछ ऐसे ही घटनाएं जब विराट ने दिखाया अपना बड़ा दिल

विराट – फाफ

पिछले साल जब अफ्रीका दौरे में मुंबई मैच के दौरान जब फाफ  के शरीर  में खिचाव आ गया था और वो शतक बनाकर वापस लौट  रहे थे तब विराट उनके पास जाकर न केवल उनहे बधाई दी बल्कि उनका हाल चाल भी पूछा।

kohli-faf

 

विराट – संगकारा

जब पिछले साल भारत ने गाले  टेस्ट के बाद कोलम्बो की ओर रुख किया तो यह संगकारा का आखरी टेस्ट था।
इस मैच में भारतीय खिलाड़ियों के जबरदस्त प्रदर्शन के आगे श्रीलंकाई टीम ने घुटने टेक दिए और इस तरह से अपने अंतिम टेस्ट में संगकारा का जीत का सपना साकार नहीं हो पाया।

दूसरी पारी में जब आश्विन ने संगकारा को आउट किया तो कोहली ने उनसे हाथ मिलाया और एक बेहतरीन करियर की उन्हें शुभकामनाएं दीं। मैच के बाद दोनों एक बार फिर से मिले और इस बीच कोहली ने संगकारा को एक भावुक फेयरवेल दी

virat-kohli-and-sanga

विराट-मिस्बाह 

साल 2013 चैंपियंस ट्रॉफी में जब मैच में बारिश शुरू हुई तब मिस्बाह क्रीज़ पर थे,  उस वक़्त मैच के गरम माहौल के बीच में भी जब  मिस्बाह अन्य खिलाड़ियों के साथ मैदान के बाहर जाने लगे तो विराट कोहली दौड़े- दौड़े उनके पास आए और उनके कंधे पर हाथ रखकर दोस्ताना बातचीत करना शुरू कर दी।

pic credit :- ekhindi.com/ rediff.com
pic credit :- rediff.com

कोहली -अफरीदी

साल 2014 में एशिया कप मैच में जब अफरीदी ने अश्विन के ओवर में लगातार दो  छक्के मारकर पाकिस्तान को जीत दिलाई थी तब वह मौजूद हर फैंस का दिल टूट गया था, लेकिन विराट ने खेल भावना का सम्मान करते हुए न केवल उन्हें बधाई दी। जब अफरीदी अपने विनिंग छक्के का जश्न मना रहे थे तब विराट उनके पास गए और उनके इस बेहतरीन प्रदर्शन के लिए बधाई दी।

pic credit ekhindi.com/ getty images
pic credit ekhindi.com/
getty images

 

विराट – ब्रेंडन टेलर 

pic credit getty image
pic credit getty image

2014 के विश्र्व कप में जब टेलर ने शतक़ लगाया तब विराट उनके पास आए और उन्हें बधाई दी. टेलर का यह मैच उनके करियर का जिम्बाम्बे के लिए अंतिम मैच साबित हुआ , विराट की इस खेल भावना का सभी ने सम्मान किया।