अपनी इस क्षमता के दम पर अकेले देश को चैंपियन बना सकते हैं हार्दिक पांड्या

Trending News

Blog Post

एडिटर च्वाइस

अगर टीम इंडिया को जीतना है विश्व कप तो हार्दिक पांड्या को निभाना पड़ेगा मोहिंदर अमरनाथ और युवराज सिंह वाला किरदार 

अगर टीम इंडिया को जीतना है विश्व कप तो हार्दिक पांड्या को निभाना पड़ेगा मोहिंदर अमरनाथ और युवराज सिंह वाला किरदार

आगामी एकदिवसीय विश्व कप के लिए विराट कोहली की अगुवाई वाली ‘मैन इन ब्लू’ भारतीय क्रिकेट टीम को खिताब जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा हैं. इसकी एकमात्र और सबसे बड़ी वजह टीम इंडिया के खिलाड़ियों का मौजूदा समय में शानदार फॉर्म में होना हैं. सन 1983 और साल 2011 के विश्व कप जीत के झंडे गाड़ने वाली टीम इस बार भी चैंपियन बनकर इतिहास रच सकती हैं.

भारतीय टीम ने जब 1983 में पहली बार विश्व कप जीता था तब टीम की जीत में ऑल राउंडर मोहिन्दर अमरनाथ ने एक अहम किरदार अदा किया था, साल 2011 के टूर्नामेंट में भी युवराज सिंह ने अपने हरफनमौला खेल से देश को चैंपियन बनाया था. मतलब साफ हैं, कि अगर टीम के पास एक अच्छा ऑल राउंडर हो तो टीम विश्व कप का टूर्नामेंट एक बार फिर से जीत सकती हैं.

इस बार हार्दिक कर सकते हैं कमाल 

हार्दिक पांड्या

सन 1983 और 2011 में जो किरदार मोहिन्दर अमरनाथ और युवराज सिंह ने निभाया था, उसी भूमिका को आगामी वर्ल्ड कप में हार्दिक पांड्या बखूबी अदा कर सकते हैं. हार्दिक पांड्या एक काबिल ऑल राउंडर खिलाड़ी हैं और उनके अन्दर यह क्षमता हैं कि वह टीम के लिए अपनी बल्लेबाजी और गेंदबाजी के साथ देश को एक बार फिर से विश्व विजेता बना सकते हैं.

25 वर्षीय हार्दिक पांड्या ने देश के लिए अभी तक कुल 45 वनडे मैच खेले हैं और इस दौरान वह 731 रन और 44 विकेट अपने नाम कर चुके हैं. साल 2017 की आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में भी हार्दिक पांड्या ने बतौर ऑल राउंडर काफी शानदार खेल दिखाया था और टूर्नामेंट में लगभग 195 के स्ट्राइक रेट के साथ 105 रन और चार विकेट भी हासिल किये थे.

फॉर्म भी हैं दमदार 

हार्दिक पांड्या

बात अगर हाल फिलहाल में हार्दिक पांड्या की फॉर्म की करे, तो इंडियन प्रीमियर लीग में मुंबई इंडियन्स को खिताब जीताने में हार्दिक पांड्या ने एक बड़ा किरदार निभाया था. पूरे टूर्नामेंट में हार्दिक पांड्या ने 192 के जोरदार स्ट्राइक रेट के साथ 402 रन और 14 विकेट हासिल किये थे.

सन 1983 के विश्व कप मोहिन्दर अमरनाथ ने अपने ऑल राउंडर खेल से सभी का दिल जीता था. मोहिन्दर अमरनाथ ने आठ मैचों में 278 रन बनाने के साथ आठ विकेट भी हासिल किये थे. इतना ही नहीं मोहिन्दर अमरनाथ को 1983 के विश्व कप के सेमीफाइनल और फाइनल मैच में ‘मैन ऑफ़ द मैच’ का अवार्ड भी मिला था.

2011 में युवी ने मचाया था धमाल 

साल 2011 में जब टीम इंडिया ने पूरे 28 सालों के अंतराल के बाद एकदिवसीय विश्व कप जीता था, तब युवराज सिंह ने टीम की जीत में सबसे बड़ा रोल निभाया था. इस विश्व कप में युवराज सिंह ने 9 मैचों में 90.50 की दमदार औसत और 86.19 के स्ट्राइक रेट के साथ कुल 362 रन बनाये थे और 15 विकेट हासिल थे.

इंग्लैंड और वेल्स के मैदानों पर इस बार हार्दिक पांड्या यह भूमिका निभा कर देश को तीसरी बार एकदिवसीय विश्व कप का चैंपियन बना सकते हैं. विश्व कप में टीम इंडिया अपने अभियान की शुरुआत 5 जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ साउथहैम्पटन के मैदान से करेगी.

हार्दिक पांड्या

Related posts