ये रहे वह 5 कारण जिनकी वजह से हारा सनराईजर्स हैदराबाद 1

आईपीएल में हर बार की तरह एक बार फिर सनराईजर्स हैदराबाद अपने पुराने ढर्रे पर वापस आती हुई नजर आ रही है. आज टीम अपने होम ग्राउंड पर केकेआर से बुरी तरह आठ विकेट से हार गयी, जो काफी शर्मनाक रहा. ऐसे में टीम में क्या कमी रह जा रही है. जिसकी वजह से टीम हार जा रही है. नीचे इसके कुछ प्रमुख बिंदु पेश हैं.

  1. शिखर धवन का लगातार फ्लॉप होना

इस साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम दो वनडे मैचों को अगर छोड़ दिया जाये, तो शिखर धवन की फॉर्म पता नहीं कहा चली गयी है. भारत के लिए खेलते हुए एशिया कप में और उसके बाद टी-20 वर्ल्डकप में उनका प्रदर्शन बहुत ही खराब रहा. जिसकी वजह से कप्तान धोनी को उन्हें अंत में फाइनल मैच से बाहर बिठाना ही पड़ा. लेकिन अब ये सिलसिला आईपीएल में भी लगातार जारी है. जिसका खामियाजा अब हैदराबाद फ्रैंचाइज़ी को झेलना पड़ रहा है. केकेआर के सामने अगर टीम बड़ा स्कोर नहीं बना पायी, तो इसकी वजह टीम को शुरुआत में ही झटका लगना ही माना जायेगा. धवन का विकेट सबसे पहले गिरा था.

  1. वार्नर की कमजोर कप्तानी

वार्नर बतौर बल्लेबाज़ काफी सफल रहे हैं, लेकिन बतौर कप्तान ये खिलाड़ी उतना असरदार साबित नहीं हुआ है. जितना एक कप्तान को होना चाहिए. इस मैच में उन्होंने टॉस जीतने के बाद पहले फील्डिंग चुनकर एक गलत फैसला लिया. साथ ही विकेट के हिसाब से वह गेंदबाज़ चुनने में भी गलत साबित हुए हैं. वह आज हेनरिक्स की जगह विलियमसन को टीम में मौका दे सकते थे. लेकिन वह ऐसा करने में असफल साबित हुए.

  1. निश्चित अंतराल पर विकेट का गिरना

सनराइजर के शुरुआती दो विकेट बहुत ही जल्दी गिर गये, जिसकी वजह से उनकी टीम दबाव में आ गयी लेकिन मोर्गन एक छोर से अच्छी बल्लेबाज़ी कर रहे थे. तो वहीं दुसरे छोर पर विकेट गिरते जा रहे थे. दीपक हूड्डा और हेनरिक्स का जल्दी आउट हो जाना टीम के लिए काफी नुकसानदायक साबित हुआ.

  1. तेज गेंदबाज़ी की धार रही कुंद

भले ही लक्ष्य कम था, लेकिन आईपीएल में इससे भी कम स्कोर बचाए गये हैं. इसके लिए गेंदबाजों को आक्रामक गेंदबाज़ी करनी होती है. लेकिन भुवनेश्वर कुमार और बरिंदर सरन ऐसा करने में नाकामयाब साबित हुए. मुस्ताफिजुर रहमान को छोड़कर सभी गेंदबाजों की धार कुंद रही.

  1. नेहरा और युवराज का अनफिट होना

नेहरा पहले मैच में ग्रोइन की वजह से इस मैच में नहीं खेल पाए. जिसकी कमी टीम को साफ़ तौर पर खली. वह विकेट टेकिंग गेंदबाज़ हैं. वहीं सिक्सर किंग युवराज सिंह अभी तक टीम में वापस नहीं आ पाये हैं. सबसे ज्यादा कमी टीम को उनकी खल रही है. वह बहुत ही अहम खिलाड़ी हैं. ये वह समय है जब टीम को उनकी सख्त जरूरत है.