ये है वो 5 कारण जिसकी वजह से इस समय खराब प्रदर्शन के बाद भी युवराज सिंह को खेलते देखना चाहते है लोग 1
Cricket - India v England - Second One Day International - Barabati Stadium, Cuttack, India - 19/01/17. India's Yuvraj Singh celebrates after scoring a century. REUTERS/Adnan Abidi

भारतीय क्रिकेट टीम के बेहतरीन बल्लेबाज युवराज सिंह को कौन नहीं जानता है, पुरे विश्व में उनके चाहने वालों की कमी नहीं है. युवराज सिंह अपनी बिमारी की वजह से उन्हें क्रिकेट से कुछ लम्बे समय तक दूर रहना पड़ा था, लेकिन जैसे ही उनकी टीम में वापसी हुयी उनके प्रशंसको का ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा.  फिलहाल क्या आप जानते हैं कि पुर देश युवराज की बल्लेबाजी का दीवाना है.

यहाँ हम आपको 5 ऐसे कारण बता रहे हैं जिसे यह साबित हो जायेगा कि युवराज सिंह के चाहने वाले पुरे देश में हैं.  2019 विश्वकप में लगातार फ्लॉप चल रहे युवराज सिंह की जगह लेने की काबिलियत रखते है ये पांच खिलाड़ी

5. बिग मैच प्लेयर:

https://youtu.be/VLau6pX2F3g

साल 2000 से ही युवराज सिंह की भारतीय टीम में भूमिका अहम रही है. युवराज सिंह ने साल 2002 में मोहम्मद कैफ के साथ इंग्लैंड के खिलाफ अपनी यादगार पारी के साथ भारत को जीत दिलाई थी. इसके अलावा युवराज ने 2007 के टी-20 विश्वकप के सेमी फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बहुत शानदार पारी खेली थी.

4. कभी हार नहीं मानने वाला खिलाड़ी

ये है वो 5 कारण जिसकी वजह से इस समय खराब प्रदर्शन के बाद भी युवराज सिंह को खेलते देखना चाहते है लोग 2

युवराज सिंह जब अपने कैंसर के बिमारी के शिकार हो गये तब उनके आलोचकों का मानना था कि युवराज सिंह को अब अंतिम बार देखा जा रहा है, लेकिन युवराज सिंह ने टीम में वापसी कर आलोचकों को गलत साबित कर दिया. युवराज सिंह कैंसर की वजह से टीम से 2 साल के लिए बाहर रहना पड़ा था, उस समय युवराज के आलोचक उनका खूब मजाक बना रहे थे, लेकिन जैसे ही साल 2016 में युवराज ने टी-20 एशियाकप में धमाकेदार वापसी की उनके आलोचकों का मुंह बंद हो गया.    चैम्पियन्स ट्राफी की जर्सी पहनना युवराज सिंह को पड़ा भारी, लोगो ने ट्वीटर पर बनाया मजाक

 3. एक ओवर में 6 छक्के लगाने वाला खिलाड़ी

https://youtu.be/eU1lyeskDwU

19 सितंबर 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ युवराज सिंह ने 6 गेंद में 6 छक्के लगाकर इतिहास बना दिया. युवराज सिंह के इस धमाकेदार पारी की तो बहुत से लोग तो उनके फैन हो गये.

2. इंडिया वर्ल्डकप हीरो

Image result for yuvraj singh

2011 के वर्ल्डकप आपको याद होगा जो सचिन तेंदुलकर का आखिरी वर्ल्डकप था, सचिन के टूर्नामेंट का स्टार कोई था तो वो युवराज ही थे, जिस पर लोग ज्यादा भरोसा करते थे. उस समय युवराज सिंह को ही टूर्नामेंट का स्टार कहा जाता था. युवराज सिंह ने विश्वकप के दौरान 8 मैचों में 362 रन बनाए थे साथ ही 15 विकेट भी इनके नाम था.    बल्लेबाजी और गेंदबाजी से नहीं बल्कि मैदान पर उतरते ही जानबुझकर की गयी गलती की वजह से सबका ध्यान आकर्षित कर गये युवराज सिंह

1. कैंसर से लड़कर टीम में वापसी

Image result for yuvraj singh

2011 विश्वकप में भारत की सफलता के तुरंत बाद युवराज को एक घातक ट्यूमर के बारे में पता चला था, जो निश्चित रूप से उन्हें लम्बे समय तक बाहर रहने के लिए मजबूर कर दिया. उन्होंने अपने आपको इलाज के लिए कुछ हफ्ते अस्पताल में भर्ती कराया और पूरा भारत उनके जल्द ठीक होने की प्रार्थना की और उनके प्रशंसकों ने युवराज से भारत के लिए एक और मैच खेलने की संभावना को छोड़ दिया, लेकिन जैसे ही युवराज कैंसर जैसी भयंकर बिमारी से लड़कर टीम में वापसी की उनके प्रशंसकों की ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा.