गुजरात के खिलाफ जीत को क्रुनाल पंड्या ने बताया अपने करियर का सबसे सर्वश्रेष्ठ मैच | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

गुजरात के खिलाफ जीत को क्रुनाल पंड्या ने बताया अपने करियर का सबसे सर्वश्रेष्ठ मैच 

गुजरात के खिलाफ जीत को क्रुनाल पंड्या ने बताया अपने करियर का सबसे सर्वश्रेष्ठ मैच

आईपीएल के दसवें सीजन का शनिवार रात को एक सांसे रोक देना वाला मैच हुआ। राजकोट में मुंबई इंडियंस और गुजरात लॉयंस के बीच हुए मैच में रोमांच अपने चरम पर रहा। जिसमें गुजरात लॉयंस ने पहले खेलते हुए 153 रन ही बनाए थे। लेकिन इसके बाद भी गुजरात लॉयंस के गेंदबाजों ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए मुंबई इंडियंस की पारी को भी 153 के स्कोर पर ही रोक लिया।

इस टाई मैच का फैसला सुपर ओवर से हुआ जिसमें मुंबई इंडियंस ने पहले खेलते हुए 11 रन बनाए। इसके जवाब में गुजरात लायंस की टीम 6 रन ही बना पाई और इस मैच को मुंबई इंडियंस ने सुपर ओवर में जीत लिया। इस आईपीएल में ये पहला सुपर ओवर मैच हुआ जिसमें दर्शकों का भरपूर मनोरंजन हुआ।मुंबई की रोमांचक जीत में मैन ऑफ द मैच का खिताब हासिल करने के बाद क्रुनाल पंड्या ने खुदको दी ये खास उपाधि

मुंबई इंडियंस के ऑलराउंडर खिलाड़ी क्रुणाल पंड्या ने इस मैच में शानदार प्रदर्शन किया। क्रुणाल ने पहले गेंदबाजी में तीन विकेट अपने नाम किए जिसके बाद बल्लेबाजी में भी आखिर तक पिच पर टिकटे हुए इस मैच को सुपर ओवर के लिए खींच कर ले गए। क्रुणाल ने 20 गेंदो में 29 रन की पारी खेली।

इस मैच के मैन ऑफ द मैच क्रुणाल पंड्या ने इस सांसे रोक देने वाले मैच को उनके जीवन का सबसे अच्छा मैच करार दिया। क्रुणाल पंड्या ने इस मैच को लेकर कहा, कि “ये मेरे जीवन में जीतने भी मैच खेले हैं उनमें से सबसे अच्छा मैच था। मैनें इस तरह के कई मैच खेले है। लेकिन इस स्तर का मैच डोमेस्टिक लेवल पर भी खेले। लेकिन इस तरह का शानदार मैच अब तक नहीं खेला है।”मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने पोलार्ड और क्रुणाल की साझेदारी को दिया जीत का श्रेय 

साथ ही क्रुणाल ने इस जीत को लेकर कहा, कि “ये पूरी टीम का प्रयास था। ये कोई एक खिलाड़ी के खेल पर नहीं था। हम जानते थे कि जरूरत की रन  रेट इतना दूर नहीं है। हम केवल दो-तीन बड़े शॉट्स ही दूर थे।  लेकिन विकेट इतना आसान नहीं था, कि आप जाए और हिट लगाए। वैसे मैे सुनिश्चित कर रहा था, कि मैं इस मैच को 20 ओवर तक बढ़ाता हूं और मैं देखता हूं कि कैसे चला जाता है।”

Related posts