/

भुवनेश्वर कुमार ने खुद किया बड़ा खुलासा, इस वजह से इस साल पर्पल कैप पर है इस स्टार भारतीय खिलाड़ी का कब्ज़ा

भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार आईपीएल में सनराईजर्स हैदराबाद के लिए खेल रहे है। सनराईजर्स हैदराबाद की टीम में भुवनेश्वर कुमार अपनी शानदार गेंदबाजी से लगातार निखर कर सामने आ रहे है। सनराईजर्स हैदराबाद के गेंदबाजी आक्रमण के शुरूआती गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने इस आईपीएल में शानदार गेंदबाजी का नमूना पेश किया है। भुवी ने इस आईपीएल में अब तक तो जो गेंदबाजी की है. उसको देखकर तो लग रहा है, कि वो टी-20 क्रिकेट के विशेषज्ञ बनते जा रहे है।

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

भुवनेश्वर कुमार ने इस आईपीएल में उनके गेंदबाजों से बिल्कुल हटकर अपनी शानदार गेंदबाजी के दम पर पर्पल केप पर कब्जा जमाकर बैठे हुए है। भुवी ने इस आईपीएल में अबतक खेले 7  मैचों में 16 विकेट हासिल कर दिए है। और प्रपल कैप की दौड़ में सबसे आगे चल रहे हैं। साथ ही भुवी रन देने में भी बड़ी कंजूसी दिखा रहे है। जो क्रिकेट के इस सबसे छोटे फर्मेट में बड़ा ही महत्वपूर्ण माना जाता है।पर्पल कैप होल्डर भुवनेश्वर कुमार ने इस साल अपनी टीम के शानदार प्रदर्शन पर दिया बड़ा बयान, आखिरी हार के लिए इस भारतीय दिग्गज को ठहराया ज़िम्मेदार

सनराईजर्स हैदराबाद के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने अपनी गेंदबाजी में तेजी लाने के लिए अपनी स्विंग से समझौता करने से इनकार किया है। भुवनेशवर कुमार ने कहा, कि “नेट्स मैं आप कैसा अभ्यास करते हैं, ये सबसे ज्यादा मेटर करता है। अगर आप नेट्स में अच्छी वेरिएशन के साथ गेंदबाजी में अच्छे यॉर्कर्स डालोगे तो मैदान में आपका प्रदर्शन में बहुत मदद मिलती है।”

साथ ही भुवी ने कहा कि “दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली गई सीरीज में मैंने अपनी गति में तेजी जुटाई थी, लेकिन इसके लिए मुझे अपनी स्विंग से समझौता करना पड़ा था। लेकिन ये मेरे लिए कहीं ना कहीं टर्निंग पॉइंट साबित हुआ। इसके बाद मुझे अहसास हुआ, कि आप गेंद में तेजी तो जुटा सकते हैं, लेकिन इसके लिए आपकी स्विंग घट जाएगी। जो आप ये जोखिम नहीं उठा सकते। अब मुझे खुशी है कि मेरी गेंदबाजी में जरूरत जैसी गति भी है और स्विंग भी मौजुद है।”पंजाब के खिलाफ इतिहास रचने वाले भुवनेश्वर कुमार ने किया काफी बड़ा खुलासा, बताया किस तरह रोका वोहरा का शतक

भुवी ने टी-20 क्रिकेट को लेकर कहा, कि “मुझे लगता है कि टी-20 क्रिकेट दबाव से जुड़ा खेल है। अगर आप इसे सही तरह से संभालते हो तो आप इस खेल में शीर्ष पर होते हैं। मैं भी प्रक्रिया के बारे में सोचता हूं। परिणाम को लेकर ज्यादा नहीं सोचता।”