विडियो: इतना खराब अम्पायरिंग कि सचिन तेंदुलकर कों भी आ गया गुस्सा 1

यह घटना 1 जुलाई 2007 की फ्यूचर कप के तीसरे वनडे मैच की है, भारतीय गेंदबाजों ने इस मैच में काफी शानदार प्रदर्शन किया था और भारत का साउथ अफ्रीका पर दबदबा बनाये रखा था. बारिश की वजह से यह मैच 50 ओवर से कम करके 31 ओवर का खेला गया था.

उस मैच में भारतीय गेंदबाजी की शुरुआत जहीर खान और अजित आगरकर ने किया था, आगरकर ने शानदार गेंदबाजी करते हुए शुरुआत में ही वान विक और जैक कालिस कों पवेलियन की राह दिखा दिया था, जिससे 4 ओवर में सिर्फ 8 रन बनाकर 2 विकेट गवां चुकी साउथ अफ्रीका के बल्लेबाजों पर दबाव देखा जा सकता था.

विडियो: इतना खराब अम्पायरिंग कि सचिन तेंदुलकर कों भी आ गया गुस्सा 2

भारतीय कप्तान  ने 5 वाँ ओवर एक बार फिर जहीर खान कों दिया सामने वर्तमान समय के दिग्गज बल्लेबाज एबी डिविलियर्स खड़े थे, जहीर की बलखाती गेंद डिविलियर्स के समझ से परी थी गेंद बल्ले का बाहरी किनारा लेते हुए स्लिप में खड़े सचिन तेंदुलकर के हाथों में चली गयी. भारतीय खिलाड़ियों ने जोरदार अपील किया लेकिन पाकिस्तानी अम्पायर अलीम डार ने अपनी ऊँगली नहीं उठाया और न ही डिविलियर्स मैदान से खुद बाहर गये.

रिप्ले में साफ देखा जा सकता है, कि गेंद बल्ले का किनारा लेकर गयी है और डिविलियर्स आउट है लेकिन न तो डिविलियर्स खुद से बाहर जा रहे थे और न ही अम्पायर ने आउट दिया, जिससे भारतीय खिलाड़ियों का अम्पायर के उपर गुस्सा आसानी से मैदान पर देखा जा सकता था.

अंत में ये मैच काफी रोमांचक मोड़ पर पहुँचा था, भारत कों अंतिम 3 ओवर में 21 रनों की जरूरत थी, लेकिन भारतीय बल्लेबाजों ने इस रोमांचक मैच कों साउथ अफ्रीका के पाले में नहीं जाने दिया और लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत यह मैच 6 विकेट से जीत गया, लेकिन अगर डिविलियर्स के बल्ले से कुछ और रन निकले होते तो भारत के लिए यह मैच काफी मुश्किल हो जाता.