ऋषभ पंत से नहीं है कोई प्रतिस्पर्धा, मै उन्हें विकेटकीपिंग टिप्स दे रहा हूँ: रिद्धिमान साहा 1

महेंद्र सिंह धोनी के उत्तराधिकारी माने जाने वाले विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत के सितारे इन दिनों गर्दिश में नजर आते हैं. कुछ वक्त से वह सीमित ओवर क्रिकेट में प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली. मगर न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए टेस्ट सीरीज में कप्तान विराट कोहली ने रिद्धिमान साहा को बेंच पर बैठाकर, पंत को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया. हालांकि पंत एक बार फिर बल्ले से रन बनाने में नाकामियाब रहे, जिसके चलते उनकी काफी आलोचना हुईं.

‘पंत हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहता है’

रिद्धिमान साहा

टीम इंडिया के पास टेस्ट फॉर्मेट में इस वक्त रिद्धिमान साहा और ऋषभ पंत के तौर पर 2 विकेटकीपर-बल्लेबाज हैं. इसमें से साहा के लिए ये कहना गलत नहीं होगा कि वह मौजूदा वक्त में विश्व के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर हैं. वहीं पंत की विकेटकीपिंग में अक्सर गलतियां सामने आती हैं. दोनों खिलाड़ियों के बीच प्लेइंग इलेवन में शामिल होने के लिए प्रतिस्पर्धा रहती हैं. अब साहा ने आईएएनएस से कहा,

हम आपस में मस्ती करते रहते हैं. हम एक साथ अभ्यास करते हैं और खेल के बारे में लगातार बात करते रहते हैं. वह हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहते हैं. हमने साथ मिलकर कुछ चीजों पर बात की है.

ऋषभ पंत से नहीं है कोई प्रतिस्पर्धा, मै उन्हें विकेटकीपिंग टिप्स दे रहा हूँ: रिद्धिमान साहा 2

‘साहा ने पंत को दिए हैं विकेटकीपिंग के टिप्स’

सीनियर विकेटकीपर होने के नाते रिद्धिमान साहा युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत को टिप्स देते हैं. साहा ने इस बारे में बात करते हुए कहा,

मैंने पंत को कुछ चीजें बताई हैं जिनपर वो अपनी सहुलियत के हिसाब से काम करेंगे. वह अभ्यास में उनकी कोशिश करेंगे. ऐसा नहीं है कि वह एक दिन इन चीजों पर काम करेंगे और वह काम करने लगेंगीं. उन्हें लगेगा कि यह चीजें उनके लिए बेहतर हैं तो वह कोशिश करेंगे ट्रेनिंग में उनका अभ्यास करेंगे.

न्यूजीलैंड दौरे पर प्लेइंग इलेवन से बाहर थे साहा

रिद्धिमान साहा

मौजूदा वक्त में विश्व के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर रिद्धिमान साहा की वापसी साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेली गई टेस्ट सीरीज में हुई थी. इसके बाद घरेलू सरजमीं पर खेली गई सभी टेस्ट सीरीज में कप्तान विराट कोहली ने रिद्धिमान साहा को प्लेइंग इलेवन का हिस्सा बनाया था और ऋषभ पंत बेंच पर बैठे थे.

मगर न्यूजीलैंड दौरे पर खेली गई 2 मैचों की टेस्ट सीरीज में कप्तान कोहली ने साहा को बेंच पर बैठाकर दोनों ही मैचों में पंत को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया. लेकिन दोनों ही मैचों की चार पारियों में पंत कोई बड़ा स्कोर बनाने में नाकामियाब रहे और उन्हें एक बार फिर आलोचनाओं का सामना करना पड़ा.